भारत

मेरे पिता ने देश के लिए जान दी, वेब सीरीज़ के एक पात्र से सच बदल नहीं सकता: राहुल गांधी

पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी पर आपत्तिजनक टिप्पणी को लेकर नेटफ्लिक्स की वेब सीरीज सेक्रेड गेम्स के ख़िलाफ़ एक और केस दर्ज किया गया है. दिल्ली उच्च न्यायालय में 16 जुलाई को होनी है सुनवाई. भाजपा ने कहा, वेब सीरीज़ से पार्टी का कोई संबंध नहीं.

(फोटो साभार: फेसबुक/विकिपीडिया)

(फोटो साभार: फेसबुक/विकिपीडिया)

नई दिल्ली: आॅनलाइन स्ट्रीमिंग या आॅनलाइन एंटरटेनमेंट प्लेटफॉर्म नेटफ्लिक्स की ‘सेक्रेड गेम्स’ वेब सीरीज़ में पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी की छवि गलत ढंग से पेश करने के आरोपों के बीच कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने कहा है कि किसी काल्पनिक कार्यक्रम के एक पात्र के नज़रिये से यह सच नहीं बदलने वाला है कि ‘मेरे पिता देश के लिए जिए और मरे’.

इस वेब सीरीज पर खड़े हुए विवाद के बीच गांधी ने ट्वीट कर कहा, ‘भाजपा/आरएसएस का मानना है कि अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता पर निगरानी और नियंत्रण होना चाहिए. मेरा मानना है कि यह आज़ादी हमारा बुनियादी लोकतांत्रिक अधिकार है.’

उन्होंने कहा, ‘मेरे पिता देश के लिए जिए और मरे. किसी काल्पनिक वेब सीरीज़ के किसी पात्र के नज़रिये से यह सच नहीं बदलने वाला है.’

इस सीरीज़ में एक पात्र के ज़रिये पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी पर कथित रूप से कुछ आपत्तिजनक टिप्पणी की गई है.

मालूम हो कि राहुल गांधी का यह बयान तब आया है जब पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी पर आपत्तिजनक टिप्पणी को लेकर दो केस दर्ज किए जा चुके हैं. सेक्रेड गेम्स के खिलाफ दिल्ली उच्च न्यायालय में एक याचिका भी दाखिल की गई है.

राहुल गांधी के इस बयान की सेक्रेड गेम्स के निर्देशकों में से एक अनुराग कश्यप ने तारीफ करते हुए उनके ट्वीट को रिट्वीट किया है.

वही अभिनेत्री स्वरा भास्कर ने भी राहुल के इस बयान की प्रशंसा करते हुए ट्वीट किया है. उन्होंने लिखा है, ‘ये वाकई सराहनीय बात है कि राहुल गांधी जैसे मुख्यधारा के राजनेता इतना साफ बोल रहे हैं और अभिव्यक्ति की आज़ादी व सेंसरशिप पर इतनी प्रगतिशील बातें कर रहे है. यह भी सराहनीय है कि उन्होंने लोकतांत्रिक अधिकारों के लिए अपने से जुड़ी निजी बातों को अलग रख दिया है.’

दिल्ली उच्च न्यायालय में याचिका

मालूम हो कि ‘सेक्रेड गेम्स’ के आपत्तिजनक संवादों और दृश्यों को हटाने की मांग को लेकर दिल्ली उच्च न्यायालय में याचिका दायर की गई है. इसके अलावा मुंबई और कोलकाता में कांग्रेस कार्यकर्ताओं की ओर से दो शिकायतें भी दर्ज कराई गई हैं.

वकील शशांक गर्ग के माध्यम से दिल्ली उच्च न्यायालय में दायर याचिका में कहा गया है कि सैफ़ अली ख़ान और नवाज़ुद्दीन सिद्दीक़ी अभिनीत शो में ‘बोफोर्स मामला, शाहबानो मामला, बाबरी मस्जिद मामला और सांप्रदायिक मामलों जैसे ऐतिहासिक घटनाक्रमों को गलत तरीके से पेश किया गया है.’

याचिका में आरोप लगाया गया है कि शो के कुछ दृश्यों और संवाद में कांग्रेस के दिवंगत नेता और पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी के लिए अपशब्द कहे गए हैं.

याचिका में नेटफ्लिक्स इंटरटेनमेंट, शो के निर्माता फैंटम फिल्म्स प्रोडक्शन लिमिटेड और केंद्र सरकार को यह सुनिश्चित करने का निर्देश देने की मांग की गई है कि कथित तौर पर अपमानजक दृश्यों और पूर्व प्रधानमंत्री और उनके परिवार के लिए सीधे या परोक्ष तौर पर की गई कथित अपमानजनक टिप्पणियों को हटाया जाए.

याचिका में कहा गया है कि शो के पहले सीजन में आठ एपिसोड हैं जिसे छह जुलाई को रिलीज किया गया और चार भाषाओं में यह 190 देशों में उपलब्ध है.

इस याचिका पर बीते 12 जुलाई को सुनवाई हुई और अगली सुनवाई के लिए 16 जुलाई की तारीख़ मुक़र्रर की गई है.

मुंबई और कोलकाता में शिकायत दर्ज

इससे पहले बीते 10 जुलाई को पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी को लेकर की गई आपत्तिजनक टिप्पणी को लेकर अभिनेता नवाज़ुद्दीन सिद्दीक़ी, शो के निर्माताओं और नेटफ्लिक्स के ख़िलाफ़ शिकायत भी दर्ज कराई गई है.

यह शिकायत कांग्रेस नेता राजीव कुमार सिन्हा ने उत्तर कोलकाता के गिरीश पार्क पुलिस स्टेशन में यह शिकायत दर्ज कराई है.

सिन्हा ने आरोप लगाया है कि शो में राजीव गांधी के संबंध में ‘फट्टू’ शब्द का इस्तेमाल किया गया है. सिन्हा ने शिकायत की है कि शो में उनके कार्यकाल के समय के तमाम तथ्यों को भी गलत तरीके से दिखाया गया है. इसके अलावा शो में मर्यादा की सारी सीमाओं को लांघते हुए भारतीय फिल्म उद्योग को निचले स्तर पर पहुंचा दिया गया है.

शिकायत में आरोप लगाया है कि नवाज़ुद्दीन सिद्दीक़ी, आॅनलाइन प्लेटफार्म नेटफ्लिक्स और ‘सेक्रेड गेम्स’ के निर्माता कार्यक्रम में राजीव गांधी को अपशब्द कहने के लिए संयुक्त रूप से ज़िम्मेदार हैं.

रिपोर्ट के अनुसार 37 वर्षीय राजीव कुमार सिन्हा ने आरोप लगाया है कि माफिया गणेश गायतोंडे का किरदार निभा रहे नवाज़ुद्दीन सिद्दीक़ी ने ‘ब्रह्महत्या’ नाम के शो के चौथे एपिसोड में शाह बानो ट्रिपल तलाक़ मामले में राजीव गांधी पर राजनीति करने का आरोप लगाता है.

सेक्रेड गेम्स का पोस्टर. (फोटो साभार: फेसबुक)

सेक्रेड गेम्स का पोस्टर. (फोटो साभार: फेसबुक)

चौथे एपिसोड में नवाज़ुद्दीन सिद्दीक़ी का किरदार कहता है, ‘शाह बानो को अलग जलाया, देश को अलग. शाह बानो अपने पति के ख़िलाफ़ कोर्ट गई और केस जीत गई. लेकिन प्रधानमंत्री राजीव वो फट्टू बोला चुप बैठो औरत और कोर्ट के फैसले को ही पलट दिया. हिंदुओं ने भी इस फैसले की आलोचना की. उन्हें खुश करने के लिए हर रविवार को रामायण धारावाहिक प्रसारित किया जाने लगा, जिसके बाद पूरा देश टीवी से चिपक गया.’

राजीव कुमार सिन्हा के अलावा यूथ इंडियन नेशनल ट्रेड यूनियन कांग्रेस के अध्यक्ष सुरेश श्याम गुप्ता ने बीते 11 जुलाई को इस संबंध में नेटफ्लिक्स, नवाज़ुद्दीन सिद्दीक़ी और शो के निर्माताओं के ख़िलाफ़ शिकायत दर्ज कराई है. गुप्ता आॅल इंडिया सिने वर्कर्स एसोसिएशन के अध्यक्ष भी हैं, उन्होंने यह शिकायत चेंबूर पुलिस थाने में दर्ज कराई है.

‘सेक्रेड गेम्स’ से भाजपा का कोई संबंध नहीं: शाहनवाज़ हुसैन

‘सेक्रेड गेम्स’ वेब सीरीज़ में पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी की छवि गलत ढंग से पेश करने के विषय पर कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के बयान पर भाजपा ने बीते शनिवार को कहा कि वेब सीरीज़ से पार्टी का कोई लेना-देना नहीं है और अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता पर तभी सबसे बड़ा आघात लगा था जब कांग्रेस की सरकार के तहत आपातकाल लगाया गया था.

भाजपा के राष्ट्रीय प्रवक्ता सैयद शाहनवाज हुसैन ने कहा, ‘कांग्रेस अध्यक्ष अभिव्यक्ति की आज़ादी की बात कर रहे हैं जबकि उन्हें समझना चाहिए कि देश के लोगों की अभिव्यक्ति की आज़ादी पर सबसे बड़ा आघात तब लगा था तब उनकी पार्टी के शासन के दौरान आपातकाल लगा था.’

हुसैन ने दावा किया कि जब केंद्र में नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में सरकार आई तब अभिव्यक्ति की आज़ादी को बढ़ावा दिया गया.

उन्होंने कहा कि लेकिन अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता के नाम पर ‘खून की दलाली’ और सेना के जवानों के पराक्रम के संबंध में कांग्रेस के कुछ नेताओं के बयान सेना के मनोबल को कम करने का काम करते हैं.

भाजपा प्रवक्ता ने कहा, ‘राहुल गांधी के पिता देश के पूर्व प्रधानमंत्री थे और उनकी शहादत पर किसी ने सवाल नहीं उठाया. लेकिन शहादत तो शहादत होती है, चाहे किसी देश के नेता की हो या सेना के जवान की.’

‘सेक्रेड गेम्स’ वेब सीरीज़ के संबंध में राहुल गांधी के बयान के संबंध में हुसैन ने कहा कि इससे भाजपा का कोई संबंध नहीं है.

नेटफ्लिक्स पर रिलीज़ होने के साथ ही सेक्रेड गेम्स अपनी कहानी और कथानक की वजह से काफी चर्चा में है. अनुराग कश्यप और विक्रमादित्य मोटवाने के निर्देशन में बनी यह वेब सीरीज विक्रम चंद्र के 2006 में इसी नाम से प्रकाशित उपन्यास पर आधारित है.

आठ एपिसोड वाले पहले सीज़न की कहानी मुंबई यहां का अंडरवर्ल्ड और राजनीतिक परिदृश्य पर आधारित है. यह एक पुलिस अधिकारी की कहानी है जो मुंबई में आतंकवादी हमले को विफल करने का प्रयास करता है.

पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी द्वारा 1975 में लागू किए गए आपातकाल, तत्कालीन सरकार के जबरन नसबंदी कराने की योजना से लेकर बोफोर्स कांड और 1985 में शाह बानो मामले को लेकर राजीव गांधी सरकार के फैसलों से संबंधित घटनाओं को इस वेब सीरीज़ के कथानक में पिरोया गया है.

नेटफ्लिक्स पर यह वेब सीरीज़ बीते छह जुलाई को रिलीज़ हुई है. नवाज़ुद्दीन सिद्दीक़ी के अलावा सैफ़ अली ख़ान और राधिका आप्टे इसमें मुख्य भूमिकाओं में हैं.

इस वेब सीरीज़ में सैफ़ अली ख़ान इंस्पेक्टर सरताज सिंह का किरदार निभा रहे हैं, वहीं नवाज़ुद्दीन सिद्दीक़ी गणेश गायतोंडे नाम के गैंगस्टर बने हैं. राधिका आप्टे रॉ एजेंट बनी हैं.

(समाचार एजेंसी भाषा से इनपुट के साथ)

Comments