भारत

मॉब लिंचिंग की घटनाओं को बेवजह तूल दिया जा रहा है: योगी आदित्यनाथ

देश में बढ़ रही लिंचिंग पर उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री ने कहा कि कांग्रेस मॉब लिंचिंग की घटनाओं को लेकर तिल का ताड़ बना रही है.

Yogi Adityanath ANI

योगी आदित्यनाथ (फोटो साभार: एएनआई)

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बुधवार को कहा कि मॉब लिंचिंग या पीट-पीटकर हुई हत्या की घटनाओं को बेवजह का महत्व दिया जा रहा है.

समाचार एजेंसी एएनआई के अनुसार मॉब लिंचिंग योगी आदित्यनाथ ने कहा, ‘इन घटनाओं को बेवजह तूल दिया जा रहा है. अगर आप मॉब लिंचिंग की बात करते हैं, तो 1984 क्या था? कानून व्यवस्था बनाए रखना राज्य की जिम्मेदारी होती है. कांग्रेस मॉब लिंचिंग की घटनाओं को लेकर तिल का ताड़ बना रही है. इसमें वे कभी भी सफल नहीं होंगे.’

उन्होंने आगे कहा, ‘हम सभी को सुरक्षा मुहैया कराएंगे लेकिन ये हर व्यक्ति, समुदाय और धर्म की जिम्मेदारी है कि वे एक-दूसरे की भावनाओं का ध्यान रखे. इंसान और गाय दोनों ही महत्वपूर्ण हैं. दोनों की कुदरत में अपनी-अपनी भूमिका है. हर किसी की सुरक्षा होनी चाहिए.’

बता दें कि 20 जुलाई को राजस्थान के अलवर जिले के रामगढ़ थाना क्षेत्र में तथाकथित रूप से गो तस्करी के संदेह में भीड़ द्वारा अकबर खान नाम के एक शख्स की पीट-पीट कर हत्या कर दी गई.

इंडियास्पेंड की रिपोर्ट के मुताबिक 2010 से गो-हत्या के शक में अब तक भीड़ द्वारा हमले की 87 घटनाएं सामने आई हैं, जिनमें 34 लोग की मौत हुई और 158 लोग गंभीर रूप से घायल हुए. इन आंकड़ों के अनुसार देश में 2014 से पहले गो हत्या के नाम पर हिंसा की दो घटनाएं हुई थीं. गो-हत्या के शक में भीड़ द्वारा पीट-पीटकर हुई हत्याएं साल 2014 के बाद हुई हैं.

इस तरह की बढ़ती घटनाओं को गंभीरता से लेते बीते हफ्ते सुप्रीम कोर्ट ने ‘भीड़तंत्र’ से निपटने के लिए सरकार को कानून बनाने को कहा था, जिसके बाद गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने लिंचिंग की घटनाओं से निपटने के लिए दो उच्च स्तरीय समितियां गठित करने की घोषणा की है. साथ ही उन्होंने कहा कि अगर ज़रूरी हुआ तो  मॉब लिंचिंग पर क़ानून भी बनाया जाएगा.