राजनीति

दिल्ली एमसीडी चुनाव परिणाम: भाजपा ने आप और कांग्रेस को दी करारी शिकस्त

भाजपा ने अब तक घोषित चुनाव परिणाम के आधार पर तीनों नगर निगम के 270 में से 150 वार्ड में जीत सुनिश्चित कर ली है.

MCD-campaigns (1)

(फाइल फोटो: पीटीआई)

दिल्ली एमसीडी चुनाव में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने निर्णायक बढ़त हासिल कर लगातार तीसरी बार नगर निगम पर काबिज होने की तैयारी कर ली है. बुधवार को मतगणना के दौरान शुरू से ही भाजपा ने कांग्रेस और आप को काफी पीछे छोड़ते हुये इस बढ़त को ऐतिहासिक जीत में तब्दील करने का मार्ग प्रशस्त कर दिया.

हालांकि दिल्ली की स्थानीय राजनीति में भाजपा ने अपना दबदबा कायम रखकर आप को राष्ट्रीय राजनीति में महत्वपूर्ण स्थान दिलाने के पार्टी संयोजक अरविंद केजरीवाल के प्रयासों को खासा पीछे धकेल दिया है. भाजपा को साल 2015 के विधानसभा चुनाव में आप से मिली चौंकाने वाली हार के बाद नगर निगम में एक बार फिर पूर्ण बहुमत की ओर ले जाने वाले परिणाम पार्टी के लिये स्थानीय राजनीति में शानदार वापसी का सबब बनेंगे.

दूसरी ओर निगम चुनाव परिणाम आप के सियासी भविष्य के लिये संकट बढ़ाने वाले साबित हो सकते है. पंजाब, गोवा और राजौरी गार्डन के बाद निगम में आप की करारी हार को विपक्ष केजरीवाल सरकार के लिये जनमत संग्रह की तरह पेश कर रहा है. आप का अब तक का प्रदर्शन दिल्ली की राजनीति पर पार्टी की पकड़ को ढीला करने वाला साबित हो रहा है.

चुनाव परिणाम में तीसरे स्थान की ओर अग्रसर कांग्रेस को निगम चुनाव के जरिये दिल्ली में अपनी खोई जमीन वापस पाने की कोशिशों को करारा झटका लगा है. पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष अजय माकन ने निगम चुनाव में कांग्रेस को तीसरे स्थान पर धकेलने वाले परिणाम पूरी तरह से घोषित होन से पहले ही हार की जिम्मेदारी लेते हुये अपने इस्तीफे की पेशकश की है.

भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने इस चुनाव में भरोसा जताने के लिए दिल्ली की जनता को धन्यवाद दिया है.

वहीं आप नेता मनीष सिसोदिया ने कहा,’ बिना ईवीएम में छेड़छाड़ के इतनी बड़ी जीत संभव नहीं है. भाजपा ने दिल्ली में सिर्फ डेंगू और चिकनगुनिया फैलाया है. भरोसा नहीं हो रहा है कि जनता इतनी बड़ी संख्या में भाजपा को वोट किया है. हम अपना आत्ममंथन तो करेंगे ही साथ ही साथ ईवीएम के मुद्दे को भी आगे बढ़ाएंगे.’

वहीं दिल्ली की पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस नेता शीला दीक्षित ने कहा,’ चुनाव आयोग और सरकार को दुविधा दूर करनी चाहिए पर जो हारता है वो कहता है ईवीएम खराब है, जो जीतता है वो कहता है ईवीएम ठीक है.’

वहीं, दिल्ली कांग्रेस अध्यक्ष अजय माकन ने हार की जिम्मेदारी लेते हुए इस्तीफा दे दिया है और उन्होंने कहा है कि वो एक कार्यकर्ता के रूप में काम करते रहेंगे.