भारत

बॉलीवुड निर्माताओं में मची अभिनंदन, बालाकोट, पुलवामा जैसे फिल्म टाइटल रजिस्टर कराने की होड़

फिल्मों के नाम रजिस्टर करने वाली संस्था इंडियन मोशन पिक्चर्स प्रोड्यूसर्स एसोसिएशन में फरवरी के आख़िरी सप्ताह में बड़ी संख्या में पुलवामा आतंकी हमले, बालाकोट एयर स्ट्राइक और भारतीय वायुसेना के पायलट अभिनंदन से जुड़े टाइटल रजिस्टर कराने के आवेदन किए गए.

Lathepora: Security personnel carry out the rescue and relief works at the site of suicide bomb attack at Lathepora Awantipora in Pulwama district of south Kashmir, Thursday, February 14, 2019. At least 30 CRPF jawans were killed and dozens other injured when a CRPF convoy was attacked. (PTI Photo/S Irfan) (PTI2_14_2019_000167B)

पुलवामा आतंकी हमले के बाद घटनास्थल पर सुरक्षा बलों के जवान (फोटो: पीटीआई)

भारत और पाकिस्तान मनोरंजन, खासकर फिल्म और क्रिकेट जगत के लिए हमेशा दिलचस्प विषय रहे हैं. शायद यही वजह है कि दोनों देशों के बीच तनाव के बावजूद फिल्म निर्माता मौजूदा स्थितियों को भुनाना चाहते हैं.

हफिंग्टन पोस्ट की एक रिपोर्ट के अनुसार 14 फरवरी को पुलवामा में सीआरपीएफ के काफिले पर आतंकी हमले और भारत की एयर स्ट्राइक के बाद बड़ी संख्या में फिल्म निर्माताओं ने इससे जुड़े कई टाइटल रजिस्टर करवाए हैं.

वेबसाइट ने ट्रेड पत्रिका ‘कम्पलीट सिनेमा’ के हवाले से बताया है कि 14 फरवरी को पंजीकृत होने वाले टाइटल में पुलवामा: द सर्जिकल स्ट्राइक, द सर्जिकल स्ट्राइक, वॉर रूम, हिंदुस्तान हमारा है, पुलवामा टेरर अटैक, द अटैक्स ऑफ पुलवामा, विद लव फ्रॉम इंडिया एंड एटीएस- वन मैन शो शामिल थे.

मालूम हो कि देश में फिल्मों/टीवी सीरियल और वेब सीरीज़ के टाइटल रजिस्टर करने का काम इंडियन मोशन पिक्चर्स प्रोड्यूसर्स एसोसिएशन (आईएमपीपीए) करता है.

कोई टाइटल रजिस्टर करवाने के लिए किसी निर्माता या प्रोडक्शन हाउस को एक साधारण-सा फॉर्म भरना होता है, जहां उन्हें प्राथमिकता के आधार पर चार से पांच टाइटल बताने होते हैं, साथ ही 18 प्रतिशत जीएसटी के साथ 250 रुपये जमा करने होते हैं.

अक्सर टाइटल रजिस्टर करवाने वाले उस पर फिल्म, सीरियल या वेब सीरीज़ नहीं बनाना चाहते बल्कि उनका उद्देश्य इसे बेचना होता है. वे इसे इसलिए लेते हैं कि जब कोई बड़ा निर्माता या प्रोडक्शन हाउस संबंधित विषय पर फिल्म बनाना चाहे तब वे इसे उन्हें बेच सके.

वेबसाइट की रिपोर्ट में बताया गया है कि 27 फरवरी को जब उनके संवाददाता ने एक छोटे निर्माता के रूप में आईएमपीपीए से भारत पाकिस्तान पर वेब सीरीज बनाने के लिए टाइटल रजिस्टर करवाने की कोशिश की तब उन्हें बताया गया कि इस विषय में अधिकतर टाइटल रजिस्टर हो चुके हैं.

संवाददाता ने बताया है कि वहां मौजूद बॉलीवुड निर्माता पुलवामा: द डेडली अटैक, पुलवामा अटैक वर्सेज सर्जिकल स्ट्राइक 2.0, बालाकोट जैसे टाइटल पर विचार कर रहे थे.

27 फरवरी को भारतीय पायलट अभिनंदन के पाकिस्तान के हिरासत में होने की खबर आने के बाद जब आईएमपीपीए से संपर्क किया गया, तब पता चला कि ‘अभिनंदन’ नाम को लेकर भी फिल्म निर्माताओं में होड़ मची थी.

कहा जा रहा है कि उरी फिल्म की सफलता के बाद बॉलीवुड देशभक्ति के जज़्बे को भुनाने के लिए पूरी तरह तैयार है. आईएमपीपीए के एक प्रतिनिधि ने 27 फरवरी को इस बात की पुष्टि की कि बीते एक हफ्ते में पुलवामा हमले और बालाकोट एयरस्ट्राइक से जुड़े टाइटल के लिए बड़ी संख्या में आवेदन आये हैं.

इस प्रतिनिधि ने हफिंग्टन पोस्ट को बताया कि कुछ टाइटल के लिए बड़े फिल्म प्रोडक्शन हाउस एबंडेंटिआ [Abundantia] और टी सीरीज ने भी आवेदन किया है.