भारत

उत्तर प्रदेश में ऑनर किलिंग, मुज़फ़्फ़रनगर में महिला की गोली मारकर हत्या

उत्तर प्रदेश के मुज़फ़्फ़रपुर ज़िले का मामला. पुलिस ने बताया कि ऑनर किलिंग का मामला है. चचेरे भाई से अवैध संबंधों के चलते की गई महिला की हत्या. मृतक महिला का नाम उसके पति की हत्या में सामने आया था.

Muzaffarnagar

मुजफ्फरनगर: पश्चिमी उत्तर प्रदेश में ऑनर किलिंग का एक मामला सामने आया है. मुज़फ़्फ़रनगर ज़िले के हैदरपुर गांव में रिश्ते के एक भाई ने कथित तौर पर परिवार की इज़्ज़त के नाम पर अपनी बहन की गोली मारकर हत्या कर दी. पुलिस ने सोमवार को यह जानकारी दी.

पुलिस ने बताया कि मृतक महिला शिवानी के रिश्ते के भाई सुमित कुमार ने पाया कि उसका अपने रिश्ते के एक अन्य भाई अनुज के साथ अवैध संबंध हैं.

इसके कारण उसने अनुज के साथ मिलकर पहले अपने पति हैप्पी की हत्या कर दी. इस पर सुमित ने रविवार को शिवानी की गोली मारकर हत्या कर दी.

एसएसपी सुधीर कुमार ने बताया कि ऑनर किलिंग का मामला है. शिवानी की हत्या उसके चचेरे भाई ने प्रेम प्रसंग के चलते की है.

पुलिस अधीक्षक (ग्रामीण) आलोक शर्मा ने बताया कि कुमार ने अपनी बहन की हत्या की बात स्वीकार की है और उसने ऐसा इसलिए किया क्योंकि उसने परिवार की छवि खराब कर दी थी.

उन्होंने बताया कि रविवार को शिवानी और अनुज का नाम उसके पति की हत्या में आया था. 

पुलिस ने बताया कि चार मार्च को हप्पी की गोलीमार कर उस समय हत्या कर दी गई थी जब वह एक मोटरसाइकिल पर अपने ससुराल से लौट रहा था. शिवानी से उसकी शादी 28 फरवरी को हुई थी.

अधिकारी ने बताया कि महिला का शव पोस्टमार्टम के लिए ले जाया गया है. पति की हत्या में नाम आने के दो घंटे के बाद एक देसी पिस्तौल से गोली मारकर उसकी हत्या कर दी गई.

दैनिक जागरण की ख़बर के अनुसार, रविवार देर शाम सुमित अपने ताऊ आजाद की पुत्री शिवानी (23) को बाइक से खेत पर ले गया और उसके सीने में तीन गोलियां दाग दीं जिसके बाद शिवानी की मृत्यु हो गई. बाद में सुमित ने पुलिस के सामने आत्मसमर्पण कर हत्या में इस्तेमाल तमंचा सौंप दिया.

एसएसपी सुधीर कुमार ने बताया कि बीती 28 फरवरी को शिवानी की शादी मेरठ के रहने वाले हैप्पी से हुई थी. चार मार्च को शिवानी ने हैप्पी को गांव बुलाया और अपने प्रेमी व चचेरे भाई अनुज के साथ मिलकर हैप्पी की हत्या कर दी थी.

इस मामले में अनुज को गिरफ़्तार किया जा चुका है साथ ही हत्या में इस्तेमाल किया गया तमंचा, मृतक हैप्पी और उसके चचेरे भाई मनीष का मोबाइल भी बरामद कर लिया गया है

सुमित ने पुलिस हिरासत में यह बात स्वीकार की और कहा कि उसे इस हत्या पर कोई अफसोस नहीं है. एसएसपी सुधीर कुमार ने दैनिक जागरण से बातचीत में बताया कि सुमित ने कहा कि जब उसकी बहन को परिवार की इज्जत बेइज्जती की परवाह नहीं तो वो क्यों उसे छोड़ता.

(समाचार एजेंसी भाषा से इनपुट के साथ)