Molestation

(फोटो: रॉयटर्स)

कोरोना वायरस: झारखंड में लोगों को घर में रहने की सलाह देने पर दुकानदार की पीट-पीटकर हत्या

घटना झारखंड के पलामू ज़िले के चाक उदयपुर की है. पुलिस ने बताया कि विभिन्न शहरों से चार मज़दूर अपने गांव लौटे थे, जिन्हें जांच के बाद 14 दिन तक अपने घर में क्वारंटाइन रहने का निर्देश दिया गया था. लेकिन वे घूमते हुए एक दुकान पर पहुंच गए थे.

(फोटो: गूगल मैप)

यूपी: ज़मानत पर छूटे छेड़छाड़ के आरोपियों ने नाबालिग की मां पर किया हमला, अस्पताल में हुई मौत

उत्तर प्रदेश के कानपुर का मामला. साल 2018 में 15 वर्षीय लड़की के साथ छेड़छाड़ के आरोप में चार लोगों को गिरफ़्तार किया गया था. बीते नौ जनवरी को इनमें से तीन ने तीन अन्य के साथ मिलकर लड़की के परिवार पर लाठी और तेज़ धार हथियार से हमला किया था.

गौरव सिंह. (फोटो: फेसबुक)

निलंबित बीएचयू छात्र की कैंपस में गोली मारकर हत्या

23 वर्षीय गौरव सिंह बनारस हिंदू विश्वविद्यालय से मास्टर्स से पढ़ाई कर रहा था. लंका पुलिस ने बुधवार को गौरव के पिता की तहरीर पर बीएचयू चीफ प्रॉक्टर समेत पांच लोगों के खिलाफ नामजद और तीन अज्ञात के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया है.

पंजाब के पूर्व डीजीपी केपीइस गिल और वरिष्ठ आईएएस अधिकारी रूपन देओल बजाज (फाइल फोटो: एएनआई/विकिपीडिया)

रूपन देओल बजाज: जिन्होंने केपीएस गिल द्वारा यौन उत्पीड़न के ख़िलाफ़ आवाज़ उठाई और जीत हासिल की

साक्षात्कार: 1988 में वरिष्ठ आईएएस अधिकारी रूपन देओल बजाज ने पंजाब के तत्कालीन डीजीपी केपीएस गिल पर यौन उत्पीड़न का आरोप लगाया. 17 साल चली लंबी क़ानूनी लड़ाई के बाद उन्हें जीत हासिल हुई.

Seoni Madhya Pradesh

मध्यप्रदेश में छेड़छाड़ का मामला वापस न लेने पर पत्थर से सिर कुचलकर दलित छात्रा की हत्या

मध्य प्रदेश के सिवनी ज़िले का मामला. छह माह पहले छात्रा ने आरोपी पर छेड़छाड़ का मामला दर्ज कराया था और वो ज़मानत पर बाहर था.

Chhattisgarh Kondagaon

छत्तीसगढ़: नाबालिगों से छेड़छाड़ के आरोप में आईटीबीपी के तीन जवान गिरफ़्तार

पीड़ित लड़की जूनियर नेशनल टेबल टेनिस खिलाड़ी है. उसका आरोप है कि 22 तारीख को प्रैक्टिस से लौटते समय इन जवानों ने उसके और उसकी 2 दोस्तों के साथ बदसलूकी की.

Varanasi: Students and police in a standoff in Varanasi late Saturday night. Female students at the prestigious University were protesting against the administration's alleged victim-shaming after one of them reported an incident of molestation on Thursday. PTI Photo (PTI9_24_2017_000107B)

प्रॉक्टर के ख़िलाफ़ प्रदर्शन पर बीएचयू के 12 छात्र-छात्राओं पर हत्या के प्रयास का केस दर्ज

छात्र-छात्राओं का आरोप है कि चीफ प्रॉक्टर पिछले साल कैंपस में महिला सुरक्षा के मुद्दे पर हुए आंदोलन के बारे में दुष्प्रचार ​कर रही थीं, जिसके ख़िलाफ़ वे प्रदर्शन कर रहे थे.

Sexual Assault

फिल्म अभिनेत्री के साथ विमान में छेड़छाड़

जम्मू कश्मीर की मुख्यमंत्री महबूबा मुफ़्ती और पूर्व मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला ने की कार्रवाई की मांग. दिल्ली महिला आयोग एयर विस्तारा को नोटिस भे

BHU Gate2

मालवीय की विरासत को नज़रअंदाज़ कर रहा है बीएचयू

सरोजिनी नायडू ने मदन मोहन मालवीय को ‘रुढ़िवादी-प्रगतिशील नेता’ कहा था. संघ परिवार ने अपने एजेंडा के लिए उनके रुढ़िवादी पहलू का तो इस्तेमाल किया, लेकिन उनके प्रगतिशील दृष्टिकोण को पूरी तरह नज़रअंदाज़ कर दिया.

Narmada Prasad Damoh Dainik Bhaskar (2)

मध्य प्रदेश: बेटी से छेड़छाड़ का विरोध करने पर पिता को ज़िंदा जलाया

प्रदेश में दमोह ज़िले के हटा कस्बे की घटना. पुलिस ने तीनों आरोपियों को गिरफ़्तार किया. बेटी ने छेड़छाड़ की किसी घटना से इंकार किया.

काशी हिंदू विश्वविद्यालय की चीफ प्रॉक्टर प्रो. रोयना सिंह. (फोटो साभार: एएनआई)

बीएचयू में लड़कियों के पहनावे और खानपान पर कोई पाबंदी नहीं होनी चाहिए: नवनियुक्त चीफ प्रॉक्टर

बीएचयू मामले में अपराध शाखा ने पूर्व चीफ प्रॉक्टर सहित 20 सदस्यों को थमाया नोटिस, हो सकती है पूछताछ.

BHU Police1

क्या सवाल उठाने वाली छात्राओं को इस देश में लाठियों से जवाब दिया जाएगा?

क्या वाइस चांसलर, पुलिस प्रशासन और देश की सरकारें उन लड़कियों को देशद्रोही मानती हैं जो यह शिकायत करें कि उनके साथ छेड़खानी और अभद्र हरकतें हो रही हैं?

बनारस हिंदू यूनिवर्सिटी (फोटो: पीटीआई)

बीएचयू की घटना पीड़ित को ही प्रताड़ित करने का उदाहरण है

जिस सुरक्षा को लेकर बीएचयू में पूरा बवाल हुआ, उसकी स्थिति अब भी वैसी ही है. जिस जगह पर छात्रा को छेड़ा गया था, वहां अब भी रोशनी का इंतज़ाम नहीं हुआ है.

BHU BANNER

‘बीएचयू को जेएनयू नहीं बनने देंगे’ का क्या मतलब है?

बीते कई दशकों से एक साधन-संपन्न और बड़ा केंद्रीय विश्वविद्यालय होने के बावजूद बीएचयू पूर्वांचल में ज्ञान और स्वतंत्रता की संस्कृति का केंद्र क्यों नहीं बन सका!