sports

क्या भारतीय महिला क्रिकेट के आगे बढ़ने की राह में बीसीसीआई ही सबसे बड़ा रोड़ा है

विशेष रिपोर्ट: महिला क्रिकेट की कम लोकप्रियता के लिए हमेशा व्यूअरशिप यानी उसे कम देखे जाने को ज़िम्मेदार बताया जाता है. इसके बावजूद भारतीय महिला क्रिकेट टीम के पहली बार हो रहे डे-नाइट टेस्ट मैच के दिनों में ही बीसीसीआई ने आईपीएल मैच रखे हैं. आंकड़े दिखाते हैं कि बीसीसीआई में महिला क्रिकेट का विलय होने के बाद से टीम को न सिर्फ खेलने के कम मौके मिले, बल्कि उनके मैच भी ऐसे दिन हुए जब पुरुष टीम भी अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट खेल रही थी.

शटलर पीवी सिंधु ने कांस्य जीता, लगातार दो ओलंपिक पदक जीतने वाली पहली भारतीय महिला

भारतीय बैडमिंटन खिलाड़ी पीवी सिंधु ने रविवार को टोक्यो ओलंपिक में चीन की बिंग जियाओ को महिला एकल स्पर्धा में कांस्य पदक जीता. वह इससे पहले 2016 रियो ओलिंपिक में रजत पदक जीत चुकी हैं. पहलवान सुशील कुमार भारत के पहले खिलाड़ी हैं, जिन्होंने लगातार दो ओलंपिक में पदक जीते हैं. टोक्यो ओलंपिक में भारत का यह दूसरा मेडल है. सबसे पहले भारोत्तोलक मीराबाई चानू ने वेटलिफ्टिंग के 49 किलो वेट कैटेगरी में रजत पदक जीता था.

मिताली राज महिला अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में सर्वाधिक रन बनाने वाली क्रिकेटर बनीं

भारतीय महिला टेस्ट और एकदिवसीय टीम की कप्तान 38 वर्षीय मिताली राज ने इंग्लैंड के ख़िलाफ़ तीसरे एकदिवसीय में खेलते हुए इंग्लैंड की पूर्व कप्तान चार्लोट एडवर्ड के 10,273 अंतरराष्ट्रीय रन के आंकड़े को पीछे छोड़ा. अब दो भारतीयों- सचिन तेंदुलकर और मिताली राज के पास अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में सबसे अधिक रन बनाने का रिकॉर्ड है.

स्वर्ण जीतने के बाद सरकार ने वादा किया था, पर कोई मदद नहीं मिली: वेट लिफ्टर सुनीता कश्यप

वीडियो: हरियाणा के एक छोटे से गांव सिसर ख़ास में रहने वाली सुनीता कश्यप ने राज्य का ही नहीं बल्कि पूरे भारत का नाम रोशन किया है. उन्होंने भारत के लिए 2020 में वेट लिफ्टिंग प्रतियोगिता में स्वर्ण पदक जीता था. हालांकि यह खिलाड़ी आज लोगों के घर-घर जाकर काम करने को मजबूर है.

अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में 10 हज़ार रन बनाने वाली पहली भारतीय महिला बनीं मिताली राज

दो दशक से अधिक समय से अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट खेल रहीं 38 वर्षीय मिताली राज ने दक्षिण अफ्रीका के ख़िलाफ़ लखनऊ में तीसरे एकदिवसीय अंतरराष्ट्रीय मैच के दौरान यह उपलब्धि हासिल की. अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में 10 हज़ार रन पूरा करने वाली वह दूसरी महिला खिलाड़ी हैं. इससे पहले इंग्लैंड की चार्लोट एडवर्ड्स ने यह उपलब्धि हासिल की थी.

भारतीय महिला खो खो टीम की कप्तान और लॉकडाउन में उनका संघर्ष

वीडियो: राजधानी दिल्ली के पीथमपुरा इलाके में रहने वाली नसरीन शेख़ भारतीय महिला खो खो टीम की कप्तान हैं. वह 40 राष्ट्रीय और तीन अंतरराष्ट्रीय टूर्नामेंट खेल चुकी है. लॉकडाउन के कारण उनकी ज़िंदगी रुक सी गई है. परिवार में एकमात्र कमाने वाले उनके पिता दिहाड़ी मज़दूर हैं और मार्च से उन्होंने एक भी पैसा नहीं कमाया है.

महेंद्र सिंह धोनी: पल दो पल का क़िस्सा नहीं, मक़बूल दास्तान

जनवरी 2017 में जबसे महेंद्र सिंह धोनी ने भारतीय क्रिकेट टीम की कप्तानी छोड़ी, तबसे करिअर के अंतिम ढाई सालों में उन्हें तारीफ़ से ज़्यादा आलोचना मिली. टीम के हर कमज़ोर प्रदर्शन के बाद उनके संन्यास के कयास लगने शुरू हो जाते, लेकिन आंकड़े बताते हैं कि इन सालों में भी उनकी चमक फ़ीकी नहीं पड़ी थी.

धोनी ने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट को अलविदा कहा

भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी ने 90 टेस्ट, 350 वनडे और 98 टी20 मैच खेलकर करीब 17,000 रन बनाए और विकेट के पीछे 829 खिलाड़ियों को पवेलियन भेजा है. 2007 में टी20 विश्व कप, 2011 वनडे विश्व कप और 2013 में उन्होंने चैंपियंस ट्राफी जीता है. वह एकमात्र क्रिकेट कप्तान हैं, जिसने आईसीसी के इन तीन ख़िताबों पर क़ब्ज़ा किया है. सुरेश रैना ने भी संन्यास की घोषणा की.

क्रिकेट सम्राट: क्रिकेट के चाहने वालों ने मानो पुराना साथी खो दिया…

क्रिकेट संबंधी हर छोटी-बड़ी जानकारी और आंकड़े सहेजने वाली ‘क्रिकेट सम्राट’ पत्रिका अब से नहीं छपेगी. क़रीब 42 बरसों तक देश में क्रिकेट के चाहने वालों के लिए किसी पसंदीदा उपन्यास-सी प्रिय रही पत्रिका का प्रकाशन लॉकडाउन के चलते हुए घाटे के कारण बंद कर दिया गया है.

हॉकी के महानतम खिलाड़ियों में से एक बलबीर सिंह सीनियर का निधन

महानतम एथलीटों में से एक बलबीर सिंह सीनियर आधुनिक ओलंपिक इतिहास के 16 महानतम ओलंपियनों में शामिल थे. उन्होंने लंदन (1948), हेलसिंकी (1952) और मेलबर्न ओलंपिक (1956) में स्वर्ण पदक जीते थे. किसी ओलंपिक फाइनल में सबसे ज्यादा गोल करने का उनका रिकॉर्ड आज भी कायम है.

महान फुटबॉलर और प्रथम श्रेणी क्रिकेटर चुन्नी गोस्वामी का निधन

चुन्नी गोस्वामी 1962 के एशियाई खेल की स्वर्ण पदक विजेता भारतीय टीम के कप्तान रहे थे. एक क्रिकेटर के तौर पर उन्होंने 1962 और 1973 के बीच 46 प्रथम श्रेणी मैचों में बंगाल का प्रतिनिधित्व किया था.

डीडीसीए ने 1.6 करोड़ से ज़्यादा की क़ानूनी फीस दी, लेकिन कोचों और स्टाफ को वेतन का इंतज़ार

16 नवंबर 2019 से 11 वकीलों को 1.63 करोड़ रुपये का भुगतान दिल्ली एवं ज़िला क्रिकेट संघ (डीडीसीए) की ओर से किया गया है. इन वकीलों में दो सक्रिय राजनीतिज्ञ भी शामिल हैं. इनमें सबसे ज़्यादा 37.62 लाख रुपये का भुगतान रिटायर जस्टिस दीपक वर्मा को किया गया है.

महान फुटबॉलर पीके बनर्जी का 83 वर्ष की उम्र में निधन

1962 के एशियाई खेलों में स्वर्ण पदक विजेता रहे पीके बनर्जी भारतीय फुटबॉल के स्वर्णिम दौर के साक्षी रहे थे. उन्होंने भारत के लिए 84 मैच खेलकर 65 गोल किए. पीके बनर्जी अर्जुन पुरस्कार पाने वाले शुरुआती लोगों में से एक थे. साल 1990 में उन्हें पद्मश्री से सम्मानित किया गया था.

शेफाली वर्मा: भारतीय महिला क्रिकेट की नई पहचान

अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट के इतिहास में पहली बार भारतीय महिला क्रिकेट टीम आईसीसी टी-ट्वेंटी विश्वकप के फाइनल में है और इसका श्रेय 16 वर्षीय शेफाली वर्मा की बल्लेबाज़ी को जाता है. महज़ छह महीने पहले अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में आई शेफाली अपने शानदार प्रदर्शन के चलते दुनिया के उत्कृष्ट बल्लेबाज़ों की आईसीसी रैंकिंग में पहले स्थान पर पहुंच गई हैं.

क्रिकेट प्रेमी भारत में महिला टी20 क्रिकेट विश्वकप की चर्चा क्यों नहीं हो रही है?

आईसीसी की एकदिवसीय और ट्वेंटी-20 क्रिकेट की विभिन्न श्रेणियों को जोड़कर देखें तो 11 भारतीय महिला क्रिकेटर टॉप 10 रैंकिंग वाली हैं जबकि पुरुष क्रिकेटरों की संख्या महज 6 है. वर्तमान पुरुष क्रिकेटरों की तुलना में बेहतर प्रदर्शन के बावजूद देश में महिला क्रिकेट को न दर्शकों से समुचित तवज्जो मिलती है न ही मीडिया से.