दुनिया

अमेरिकी ह्विसिलब्लोअर एडवर्ड स्नोडेन को रूस की नागरिकता मिली

अमेरिकी राष्ट्रीय सुरक्षा एजेंसी से जुड़ी कुछ ख़ुफ़िया फाइल लीक करने के आरोपों का सामना कर रहे एजेंसी के पूर्व कर्मचारी एडवर्ड स्नोडेन 2013 से रूस में रह रहे हैं. 2020 में रूस ने उन्हें स्थायी निवासी का अधिकार दिया था.

एडवर्ड स्नोडेन. (फाइल फोटो: रॉयटर्स)

मॉस्को: रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने सोमवार को पूर्व अमेरिकी इंटलिजेंस कॉन्ट्रेक्टर एडवर्ड स्नोडेन को रूसी नागरिकता प्रदान कर दी.

राष्ट्रपति द्वारा हस्ताक्षरित एक आदेश के अनुसार स्नोडेन उन 72 विदेशी नागरिकों में शामिल हैं, जिन्हें रूस की नागरिकता प्रदान की गई है.

यह आदेश एक सरकारी वेबसाइट पर साझा किया गया.

अमेरिकी राष्ट्रीय सुरक्षा एजेंसी (एनएसए) के एक पूर्व कॉन्ट्रेक्टर स्नोडेन अमेरिका में अभियोजन का सामना करने से बचने के लिए 2013 से रूस में रह रहे हैं. स्नोडेन पर अमेरिका के सरकारी निगरानी कार्यक्रमों के विवरण वाले दस्तावेजों को लीक करने का आरोप है.

स्नोडेन को 2020 में स्थायी निवास प्रदान किया गया था. उस समय स्नोडेन ने कहा था कि उन्होंने अपनी अमेरिकी नागरिकता को छोड़े बिना रूसी नागरिकता के लिए आवेदन करने की योजना बनाई है.

39 वर्षीय स्नोडेन एनएसए में काम करते थे. 2013 में उन्होंने एनएसए द्वारा किए गए घरेलू और अंतरराष्ट्रीय निगरानी अभियानों की खुफिया फाइलों को बड़ी संख्या में लीक कर दिया था और फिर अमेरिका से निकल गए थे. उन्हें रूस में शरण दी गई थी.

अमेरिकी अधिकारी वर्षों से चाहते थे कि स्नोडेन अमेरिका वापस लौट आएं, ताकि उन पर जासूसी के आरोपों में आपराधिक मुकदमा चलाया जा सके.

रॉयटर्स के मुताबिक, स्नोडेन की ओर से कोई तात्कालिक प्रतिक्रिया नहीं आई है.

बता दें कि 2020 में रूस ने स्नोडेन को स्थायी निवासी का अधिकार दिया था, जिससे उनके लिए रूसी नागरिकता पाने के द्वार खुल गए थे.

वहीं, एक अमेरिकी अदालत ने पाया था कि स्नोडेन ने जिस कार्यक्रम का खुलासा किया था, वह गैरकानूनी था और जिन अमेरिकी इंटेलिजेंस नेताओं ने सार्वजनिक तौर पर इसका बचाव किया था, वे सच नहीं बता रहे थे.

रूस के पूर्व जासूसी प्रमुख पुतिन ने 2017 में कहा था कि स्नोडेन का अमेरिकी सीक्रेट को लीक करना गलत था, लेकिन वे देशद्रोही नहीं हैं.

(समाचार एजेंसी भाषा से इनपुट के साथ)