Goa

गोवा: दल-बदल से जूझती कांग्रेस ने प्रत्याशियों को पार्टी के प्रति निष्ठा की शपथ दिलाई

विधानसभा चुनाव राउंड-अप: गोवा में भाजपा छोड़ने के बाद पूर्व मुख्यमंत्री लक्ष्मीकांत पारसेकर ने निर्दलीय चुनाव लड़ने की घोषणा की. यूपी में 2018 बुलंदशहर दंगे का आरोपी निर्दलीय विधानसभा चुनाव लड़ेगा. पंजाब में सांप्रदायिक टिप्पणी के आरोप में कांग्रेस प्रमुख नवजोत सिंह सिद्धू के सलाहकार पर केस. मणिपुर में कांग्रेस ने 40 उम्मीदवार घोषित किए. उत्तराखंड भाजपा में शामिल सीडीएस ​जनरल बिपिन रावत के भाई नहीं लड़ेंगे चुनाव.

टिकट न मिलने पर नाराज़ उत्तराखंड भाजपा के कई नेताओं ने पार्टी छोड़ने की धमकी दी

विधानसभा चुनाव राउंड-अप: भाजपा से कोई जवाब न मिलने पर जदयू ने यूपी चुनाव में अकेले उतरने का फैसला किया. सीएए विरोधी प्रदर्शनों में शामिल रहे अलीगढ़ शहर सीट से कांग्रेस प्रत्याशी इम्तियाज़ को ज़िला बदर करने का आदेश. भाजपा छोड़ने वाले मनोहर पर्रिकर के बेटे उत्पल ने कहा कि अगर पार्टी गोवा में पणजी से अच्छा उम्मीदवार खड़ा करती है, तो वह निर्दलीय चुनाव नहीं लड़ेंगे. ए​डीआर के अनुसार गोवा में बीते पांच साल में 60 प्रतिशत विधायकों ने किया दलबदल, बना देशव्यापी रिकॉर्ड.

पंजाब: केजरीवाल के ख़िलाफ़ मानहानि का मुक़दमा करेंगे चन्नी, कांग्रेस का प्रचार अभियान शुरू

विधानसभा चुनाव राउंड-अप: यूपी में मुख्यमंत्री उम्मीदवार के चेहरे को लेकर पूछे गए सवाल पर कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने कहा कि क्या कोई दूसरा चेहरा नज़र आ रहा है? उत्तराखंड में भाजपा से निष्कासित हरक सिंह रावत कांग्रेस में शामिल हुए. शिवसेना नेता संजय राउत ने कहा कि चुनाव पूर्ण गठबंधन प्रस्ताव पर कांग्रेस ने दिलचस्पी नहीं दिखाई. मणिपुर में तृणमूल के एकमात्र विधायक भाजपा में शामिल.

उत्तर प्रदेश में मैनपुरी की करहल सीट से पहली बार विधानसभा चुनाव लड़ेंगे अखिलेश

विधानसभा चुनाव राउंड-अप: उत्तर प्रदेश में अपर्णा यादव के बाद मुलायम सिंह के एक और रिश्तेदार प्रमोद गुप्ता और कांग्रेस के ‘लड़की हूं’ अभियान का चेहरा रहीं प्रियंका मौर्य भाजपा में शामिल. गोरखपुर सदर सीट से योगी आदित्यनाथ के ख़िलाफ़ चुनाव लड़ेंगे चंद्रशेखर आज़ाद. उत्तराखंड और गोवा में भाजपा ने प्रत्याशियों की पहली सूची जारी की. पंजाब में धुरी से चुनाव लड़ेंगे आप के मुख्यमंत्री पद के उम्मीदवार भगवंत मान.

यूपी: अपना दल व निषाद पार्टी के साथ चुनावी मैदान में उतरेगी भाजपा, अपर्णा यादव पार्टी में शामिल

विधानसभा चुनाव राउंड-अप: यूपी में आचार संहिता के उल्लंघन को लेकर सपा-रालोद उम्मीदवार समेत 60 पर मामला दर्ज हुआ. उत्तराखंड में हरक सिंह रावत की वापसी को लेकर कांग्रेस में विरोध बढ़ा. पंजाब के मुख्यमंत्री ने ईडी के छापों को साज़िश बताया है, वहीं गोवा में शिवसेना-एनसीपी के बीच चुनाव-पूर्व गठबंधन हुआ.

चुनाव आयोग ने रोड-शो और जनसभाओं पर 22 जनवरी तक रोक लगाई

चुनाव आयोग ने पांच राज्यों के विधानसभा चुनाव के मद्देनज़र राजनीतिक दलों को यह छूट दी है कि वे अधिकतम 300 व्यक्तियों के साथ या हॉल क्षमता के 50 प्रतिशत या राज्य आपदा प्रबंधन अधिकारियों द्वारा निर्धारित सीमा के तहत बंद स्थानों पर बैठकें आयोजित कर सकते हैं. आयोग ने कहा कि वह बाद में स्थिति की समीक्षा करेगा और नया निर्देश जारी करेगा.

कोरोना काल में चुनाव: बड़े होते जा रहे निष्पक्षता से जुड़े सवाल

चुनाव आयोग से न सिर्फ स्वतंत्र व निष्पक्ष चुनाव कराने बल्कि यह सुनिश्चित करने की भी अपेक्षा की जाती है कि केंद्र व प्रदेशों में सत्तारूढ़ दलों को सरकारी मशीनरी का दुरुपयोग कर अपनी स्थिति मजबूत करने के अनैतिक व अवांछनीय मौके न मिलें. हालांकि कोरोना के दौर में हुए चुनावों में लगातार इस पहलू पर सवाल ही उठे हैं.

ट्विटर ने विधानसभा चुनाव से पहले मतदाताओं के लिए सूचना संबंधी विभिन्न कदमों की घोषणा की

ट्विटर ने एक बयान में कहा कि ट्विटर के क़दम न केवल उच्च मतदान सुनिश्चित करने पर केंद्रित हैं, बल्कि यह सुनिश्चित करने में भी सहायता करेंगे कि मतदाता पूरे चुनाव चक्र में शामिल हों और इस दौरान उनके पास पूरी जानकारी रहे. माइक्रोब्लॉगिंग प्लेटफॉर्म ‘कू’ ऐप ने भी कहा कि उसने विधानसभा चुनावों में सोशल मीडिया के निष्पक्ष उपयोग के लिए ‘स्वैच्छिक आचार संहिता’ अपनाई है.

प्रचार प्रक्रिया में बदलाव चुनाव प्रक्रिया बदलना है, पर क्या चुनाव आयोग को ऐसा करने का हक़ है

चुनाव आयोग का इलेक्ट्राॅनिक व डिजिटल प्रचार पर निर्भरता को विकल्पहीन बनाना न्यायसंगत नहीं है. दूर-दराज़ के कई क्षेत्रों में अब भी बिजली व इंटरनेट का ठीक से पहुंचना बाकी है, ऐसी जगहों के वंचित तबके के मतदाताओं के पास इतना डेटा कैसे होगा कि वे हर पार्टी के नेता के चुनावी भाषण सुन सके? क्या कोरोना के ख़तरे की आड़ में ऐसे सवालों की अनसुनी की जा सकती है?

गोवा: विधानसभा चुनाव से पहले एक मंत्री और भाजपा विधायक ने पार्टी छोड़ी

कलंगुट क्षेत्र से विधायक और राज्य बंदरगाह व अपशिष्ट प्रबंधन विभागों का प्रभार संभाल रहे माइकल लोबो और माइम से विधायक प्रवीण जान्त्ये ने पद और पार्टी दोनों से इस्तीफ़ा दे दिया. लोबो ने कहा कि लोग भाजपा के शासन से नाख़ुश हैं. ज़मीनी कार्यकर्ता महसूस कर रहे हैं कि पार्टी उनकी अनदेखी कर रही है.

पांच राज्यों में विधानसभा चुनाव की घोषणा, यूपी में सात चरणों में होंगे मतदान, मतगणना 10 मार्च को

उत्तर प्रदेश में 10 फरवरी को पहले चरण, 14 फरवरी को दूसरे चरण, 20 फरवरी को तीसरे चरण, 23 फरवरी को चौथे चरण, 27 फरवरी को पांचवें चरण, तीन मार्च का छठे चरण और सात मार्च को सातवें चरण के मतदान होंगे. वहीं मणिपुर में दो चरणों में 27 फरवरी और तीन मार्च को तथा उत्तराखंड, पंजाब और गोवा में 14 फरवरी को एक चरण में वोट डाले जाएंगे.

क्या प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को सत्य से परे दिए अपने वक्तव्यों पर कभी शर्मिंदगी नहीं होती

बीते दिनों गोवा में दिए एक भाषण में प्रधानमंत्री मोदी ने पुर्तगाली शासन संबंधी ग़लत ऐतिहासिक तथ्यों को पेश किया. इसके बाद उनके भाषण लेखकों की गुणवत्ता पर सवाल उठना लाज़मी था, लेकिन लगता है कि उन्हें यह भरोसा हो चला है कि यशस्वी प्रधानमंत्री के मुख से निकली बात की पड़ताल कोई नहीं करता.

पांच राज्यों के विधानसभा चुनाव से पहले उम्मीदवारों के लिए चुनावी ख़र्च की सीमा बढ़ाई गई

चुनाव आयोग ने लोकसभा चुनाव में उम्मीदवारों के लिए चुनावी खर्च की सीमा 70 लाख रुपये से बढ़ाकर 95 लाख रुपये कर दी है. वहीं, विधानसभा चुनाव में यह सीमा 28 लाख रुपये के स्थान पर 40 लाख रुपये होगी. आयोग ने क़ानून मंत्रालय की अधिसूचना का हवाला देते हुए यह जानकारी दी.

बढ़ते कोविड-19 संक्रमण के बीच कांग्रेस ने पांच चुनावी राज्यों में बड़ी सभाएं और कार्यक्रम रद्द किए

देश में कोरोना वायरस संक्रमण के मामलों में लगातार हो रही बढ़ोतरी के मद्देनज़र कांग्रेस ने पांच चुनावी राज्यों में अगले 15 दिनों के लिए बड़ी जनसभा और कार्यक्रमों का आयोजन न करने की घोषणा की है. 

दामोदर मौउजो को मिले ज्ञानपीठ पुरस्कार के बहाने क्या दक्षिणपंथी अतिवाद पर चर्चा शुरू होगी

ज्ञानपीठ पुरस्कार से सम्मानित कोंकणी लेखक दामोदर मौउजो के पास वह क्षमता है जो उन्हें तात्कालिक बात से आगे देखने का मौक़ा देती है, जिसने उन्हें इस बात के लिए भी प्रेरित किया है कि वह ताउम्र महज़ कलम और कागज़ तक अपने को सीमित न रखें बल्कि सामाजिक-राजनीतिक तौर पर अहम मुद्दों पर भी बोलें, यहां तक कि समाज में पनप रहे दक्षिणपंथी विचारों, उनकी डरावनी हरकत के बारे में भी मौन न रहें.