प्रसाद चुराने के संदेह में युवक की पीट-पीटकर हत्या, सात गिरफ़्तार: दिल्ली पुलिस

पुलिस ने बताया कि उत्तर-पूर्वी दिल्ली के सुंदर नगरी में एक पूजा पांडाल से प्रसाद चोरी करने के संदेह में एक 26 वर्षीय मानसिक रूप से कमज़ोर युवक को बिजली के खंभे से बांधकर कई घंटों तक लाठियों से पीटा गया, जिससे उनकी मौत हो गई. युवक की पहचान इसार मोहम्मद के रूप में हुई है.

बिहार: दलित महिला को कथित तौर पर निर्वस्त्र कर पेशाब पीने को मजबूर किया गया

पटना का मामला. एक साहूकार और उसके सहयोगियों द्वारा दलित महिला के साथ कथित तौर पर मारपीट की गई, उसके कपड़े उतार दिए गए और उसे पेशाब पीने के लिए मजबूर किया गया. बताया गया है कि महिला ने 1,500 रुपये का क़र्ज़ चुकाने के बाद सूद के और पैसे देने की मांग को ठुकरा दिया था.

आपराधिक जांच के ख़राब स्तर को देखते हुए सुप्रीम कोर्ट ने पुलिस के लिए ‘जांच संहिता’ लाने को कहा

एक मामले में हत्या के आरोपियोंं को संदेह के लाभ के आधार पर बरी करते हुए सुप्रीम कोर्ट की पीठ ने मामले की पुलिस जांच पर कई सवाल खड़े किए और कहा कि पुलिस की घटिया जांच के कारण उसके पास अपीलकर्ताओं को संदेह का लाभ देने के अलावा कोई विकल्प नहीं बचा है.

उन्नाव रेप पीड़िता के पिता की हिरासत में मौत के केस में दो पूर्व पुलिसकर्मियों को ज़मानत

2018 में उन्नाव बलात्कार मामले की पीड़िता के पिता की पुलिस हिरासत में मौत हो गई थी, जिसके लिए दो पुलिसकर्मियों- अशोक सिंह भदौरिया और कामता प्रसाद को दोषी ठहराते हुए साल 2020 में दिल्ली की तीस हज़ारी अदालत ने दस साल क़ैद की सज़ा सुनाई थी.

राजस्थान: ट्रेन की सीट को लेकर हुए विवाद के बाद 50 वर्षीय व्यक्ति की पीट-पीटकर हत्या

पुलिस ने बताया कि जयपुर के जगतपुरा रेलवे स्टेशन पर बस्सी निवासी 50 वर्षीय चंद्रेश मीणा की कथित तौर पर पीट-पीटकर हत्या कर दी गई. उनके दो सहयात्रियों के ख़िलाफ़ हत्या का मामला दर्ज किया गया है.

अपराध की जांच में पुलिस ब्रीफिंग का नतीजा मीडिया ट्रायल नहीं होना चाहिए: सुप्रीम कोर्ट

सुप्रीम कोर्ट ने इसके साथ ही केंद्रीय गृह मंत्रालय को तीन महीने के भीतर ‘पुलिसकर्मियों द्वारा मीडिया ब्रीफिंग पर एक व्यापक मैनुअल’ तैयार करने का निर्देश दिया. अदालत ने कहा कि मीडिया रिपोर्टिंग जो किसी आरोपी को फंसाती है, वह अनुचित है. पक्षपातपूर्ण रिपोर्टिंग से जनता में यह संदेह भी पैदा होता है कि उस व्यक्ति ने अपराध किया है. रिपोर्टिंग पीड़ितों की निजता का भी उल्लंघन कर सकती हैं.

कोल्हापुर में छात्र सांप्रदायिक भीड़ में तब्दील हो रहे हैं: फैक्ट-फाइंडिंग टीम

महाराष्ट्र में कोल्हापुर के कई शैक्षणिक संस्थानों में हाल ही में सांप्रदायिक तनाव बढ़ गया है. पुलिस पर उन शिक्षकों के ख़िलाफ़ मामले दर्ज करने का दबाव है, जो दक्षिणपंथी हिंदुत्ववादी समूहों पर सवाल उठाते हैं. ऐसे कई संगठनों को इस क्षेत्र में मजबूत आधार मिल रहा है, जिससे मुस्लिम समुदाय पर हिंसक हमलों सहित क्षेत्र में सांप्रदायिक तनाव को बढ़ावा मिला है. 

11 वर्षों में भारत में ईसाइयों पर हुए हमलों में चार गुना वृद्धि

सिविल सोसायटी संगठन ‘यूनाइटेड क्रिश्चियन फोरम’ द्वारा जारी नवीनतम आंकड़े बताते हैं कि मौजूदा वर्ष 2023 के पहले 8 महीनों में भारत में ईसाइयों के खिलाफ 525 हमले हुए हैं. मणिपुर में हिंसा, जहां पिछले चार महीनों में सैकड़ों चर्च नष्ट कर दिए गए हैं, को देखते हुए इस वर्ष यह संख्या विशेष रूप से अधिक होने की संभावना है.

दो लोगों ने सरकारी डेटाबेस एक्सेस कर लगभग दो लाख फ़र्ज़ी आधार और पैन कार्ड बनाए: गुजरात पुलिस

गुजरात के सूरत में दो लोगों को एक वेबसाइट का उपयोग करके आधार और पैन कार्ड के साथ-साथ मतदाता पहचान-पत्र जैसे जाली दस्तावेज़ों को बनाने के आरोप में गिरफ़्तार किया गया है. पुलिस ने कहा कि आरोपी सरकारी डेटाबेस को एक्सेस कर रहे थे, जो एक गंभीर मुद्दा है. आरोपी इसे 15 से 200 रुपये में बेच रहे थे.

सूअरों द्वारा फसल नष्ट किए जाने पर दो महिलाओं समेत तीन की पीट-पीट कर हत्या: झारखंड पुलिस

यह घटना झारखंड की राजधानी रांची से लगभग 25 किलोमीटर दूर झांझी टोला गांव में हुई. पुलिस ने कहा कि कुछ दिन पहले एक परिवार के सूअरों ने उनके रिश्तेदारों के खेत में फसल को कथित तौर पर नष्ट कर दिया था. इस बात पर लाठी और कृषि उपकरणों से लैस कई लोगों ने दूसरे परिवार के सदस्यों पर हमला किया था.

यूपी: दलित समुदाय से आने वाली बीएचयू शिक्षक ने सहकर्मियों पर मारपीट, छेड़छाड़ के आरोप लगाए

बनारस हिंदू विश्वविद्यालय में कार्यरत एक असिस्टेंट प्रोफेसर ने उनके विभाग के दो सहकर्मियों और दो छात्रों पर मारपीट, छेड़छाड़ और उन्हें अपमानित करने के आरोप लगाए हैं. दलित समुदाय से आने वाली शिकायतकर्ता ने कहा है कि घटना 22 मई को हुई थी, लेकिन पुलिस ने 27 अगस्त तक केस दर्ज नहीं किया.

महाराष्ट्र: चोरी के संदेह में चार दलित युवकों को पेड़ से उल्टा लटकाकर पीटा गया

महाराष्ट्र के अहमदनगर ज़िले का मामला. श्रीरामपुर तालुका के हरेगांव गांव में एक बकरी और कुछ कबूतर चुराने के संदेह में छह लोगों ने चार दलित युवकों को कथित तौर पर एक पेड़ से उल्टा लटकाकर लाठियों से पीटा था. वहीं, राज्य के जालना ज़िले में हुई एक अन्य घटना में वाहन चोरी के संदेह में दलित व्यक्ति की पीट-पीटकर हत्या कर देने का मामला सामने आया है.

मध्य प्रदेश: बहन के यौन उत्पीड़न की शिकायत वापस न लेने पर दलित युवक की पीट-पीटकर हत्या

मध्य प्रदेश के सागर ज़िले का मामला. पुलिस के अनुसार, लड़की के यौन उत्पीड़न की शिकायत 2019 में दर्ज कराई गई थी. इसे वापस लेने के लिए मुख्य आरोपी उसके भाई और परिवार पर लगातार दबाव बना रहा था. बीते 24 अगस्त को इसी बात पर लड़की के भाई और आरोपी के बीच विवाद हो गया और भाई की कथित तौर पर पीट-पीटकर हत्या कर दी गई. मां को भी निर्वस्त्र करने का आरोप है.

असम: भाजपा सांसद के घर पर 10 साल के लड़के का शव फंदे से लटका मिला

असम के सिलचर में भाजपा सांसद राजदीप रॉय के आवास पर शनिवार शाम एक 10 वर्षीय लड़के का शव लटका हुआ पाया गया. वह पिछले कुछ वर्षों से अपनी मां और बड़ी बहन के साथ सांसद के घर पर रह रहा था. लड़के की मां सांसद के घर पर घरेलू सहायिका के रूप में काम करती हैं.

हेट स्पीच को लेकर पुलिस को संवेदनशील होने की ज़रूरत है: सुप्रीम कोर्ट

सुप्रीम कोर्ट नफ़रत भरे भाषणों पर अंकुश लगाने वाली कई याचिकाओं पर सुनवाई कर रहा है. इसी कड़ी में हरियाणा के नूंह ज़िले में हुई सांप्रदायिक हिंसा के बाद दिल्ली और एनसीआर में आयोजित विरोध प्रदर्शनों के संबंध में आए एक आवेदन पर इसने कहा कि पुलिस को इन अपराधों के बारे में संवेदनशील होने की ज़रूरत है.

1 2 3 4 5 6 29