उत्तराखंड: नाबालिग से बलात्कार के आरोप में भाजपा से निष्कासित नेता गिरफ़्तार

उत्तराखंड के चंपावत ज़िले का मामला. पुलिस ने कहा कि नाबालिग की मां की शिकायत के अनुसार, भाजपा से निष्कासित नेता कमल रावत ने उनकी 16 वर्षीय बेटी का अपहरण कर उसके साथ बलात्कार किया और उसे यह अपराध न बताने के लिए धमकी भी दी थी. भाजपा के चंपावत ज़िलाध्यक्ष ने कहा कि रावत को पार्टी से निष्कासित कर दिया गया है.

बिहार: दलित महिला को पुलिसकर्मी द्वारा डंडे से सरेआम पीटने का वीडियो सामने आया

बिहार के सीतामढी में सार्वजनिक रूप से एक पुलिसकर्मी द्वारा एक दलित महिला की पिटाई का एक वीडियो वायरल हो गया है. पुलिस का दावा है कि अपहरण के एक मामले में दो पक्षों के बीच हुई लड़ाई के बाद पुलिसकर्मी केवल कानून व्यवस्था बनाए रखने की कोशिश कर रहे थे.

यूपी: पुलिस जांच में ढिलाई का आरोप लगाते हुए ख़ुद को आग लगाने वाले दलित किसान की मौत

उन्नाव ज़िले के एक 32 वर्षीय दलित किसान ने उनके पड़ोसी के ख़िलाफ़ दर्ज भूमि विवाद के केस में पुलिस द्वारा कथित ढिलाई से परेशान होकर 27 दिसंबर को एसपी कार्यालय के बाहर ख़ुद को आग लगा ली थी. इलाज के दौरान शुक्रवार को उनकी मौत हो गई.

उत्तर प्रदेश: खेत में आवारा जानवर घुसने पर बहस के बाद किसान की पीट-पीटकर हत्या

उत्तर प्रदेश के बरेली ज़िले के विशारतगंज क्षेत्र की घटना. पुलिस ने बताया कि खेत में आवारा जानवर घुसने को लेकर दो पक्षों के बीच हुई बहस के बाद 45 वर्षीय एक किसान के साथ मारपीट की गई थी, जिससे उनकी मौत हो गई. उन्होंने बताया कि फ़रार आरोपी व्यक्तियों को पकड़ने के प्रयास जारी हैं.

उत्तर प्रदेश: दलित समुदाय द्वारा आयोजित कार्यक्रम पर हमला, देसी बम फेंके गए

घटना कानपुर की है, जहां घाटमपुर के एक गांव में बौद्ध कथा कार्यक्रम में कथित तौर पर हथियारों से लैस 'उच्च जाति' के एक समूह ने हमला किया. बताया गया है कि उन्होंने गोलियां चलाईं, तोड़फोड़ की और संत रविदास की प्रतिमा क्षतिग्रस्त कर दी. आठ आरोपियों के ख़िलाफ़ केस दर्ज होने के बाद पांच को गिरफ़्तार किया गया है.

उत्तर प्रदेश: उमेश पाल हत्याकांड के एक आरोपी नफ़ीस बिरयानी की इलाहाबाद के अस्पताल में मौत

बसपा विधायक राजू पाल हत्याकांड के मुख्य गवाह उमेश पाल की उनके दो सुरक्षा गार्डों के साथ 25 फरवरी 2023 को इलाहाबाद शहर में दिनदहाड़े गोली मारकर हत्या कर दी गई थी. हमले के दौरान जिस कार का इस्तेमाल किया गया था, वह कथित तौर पर नफ़ीस बिरयानी की थी. 17 दिसंबर को तबीयत बिगड़ने पर नफ़ीस को अस्पताल ले जाया गया था.

झारखंड: सिल्कयारा सुरंग में फंसे श्रमिक के परिवार पर रिपोर्ट के बाद पत्रकार-यूट्यूबर पर केस

झारखंड के खूंटी ज़िले में पत्रकार सोनू अंसारी और यूट्यूबर गुंजन कुमार के ख़िलाफ़ कथित तौर पर सरकारी काम में बाधा डालने का केस दर्ज किया गया है. उन्होंने अपनी रिपोर्ट में आरोप लगाया था कि उत्तराखंड के सिल्कयारा सुरंग ढहने के करीब दो सप्ताह बाद प्रशासन ने इसमें फंसे श्रमिक विजय होरो के ग़रीब परिवार को राशन उपलब्ध कराया था.

मध्य प्रदेश: खनन माफिया ने राजस्व अधिकारी की ट्रैक्टर से कुचलकर हत्या की

घटना मध्य प्रदेश के शहडोल ज़िले की है. बीते 25 नवंबर को ज़िले के गोपालपुर गांव में सोन नदी के तट पर राजस्व अधिकारी प्रसन्न सिंह और तीन अन्य पटवारी निरीक्षण के लिए गए थे, जब उनकी हत्या कर दी गई. पुलिस ने इस संबंध में ट्रैक्टर चालक और वाहन के मालिक को गिरफ़्तार कर लिया है.

गुजरात: वेतन मांगने पर महिला व्यवसायी ने दलित व्यक्ति को मुंह में जूते रखने के लिए मजबूर किया

गुजरात के मोरबी शहर का मामला. एफ़आईआर के मुताबिक, 21 वर्षीय नीलेश दलसानिया अक्टूबर में महिला व्यवसायी की कंपनी के निर्यात विभाग में किए गए अपने 16 दिन के काम का वेतन मांगने गए थे, जब उनके साथ मारपीट और दुर्व्यवहार किया गया. आरोपियों के ख़िलाफ़ आईपीसी के अलावा एससी/एसटी एक्ट के तहत केस दर्ज किया गया है.

हरियाणा: स्कूल की 142 नाबालिग छात्राओं ने प्रिंसिपल पर यौन उत्पीड़न का आरोप लगाया

हरियाणा के जींद स्थित एक सरकारी स्कूल का मामला. बीते 13 सितंबर को हरियाणा महिला आयोग ने इस मामले में कार्रवाई के लिए जींद पुलिस से कहा था. हालांकि आरोप है कि पुलिस ने एफआईआर दर्ज करने में देरी की. इस बीच आरोपी प्रिंसिपल को बीते 4 नवंबर को गिरफ़्तार करने के बाद न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया है.

यूपी: बलात्कार की शिकायत वापस लेने से मना करने पर आरोपी के भाई ने पीड़िता की सरेआम हत्या की

मामला कौशांबी ज़िले का है, जहां पिछले साल एक 20 वर्षीय महिला के साथ बलात्कार के आरोप में उनके पड़ोस में रहने वाले व्यक्ति को गिरफ़्तार कर जेल भेजा गया था. कुछ दिन पहले ज़मानत पर छूटा आरोपी और उसका भाई पीड़िता व उनके परिजनों पर शिकायत वापस लेने और समझौता करने का दबाव बना रहे थे.

डिजिटल उपकरणों की ज़ब्ती हो या स्पायवेयर से सुरक्षा, सार्थक क़ानूनी प्रक्रिया वक़्त की ज़रूरत है

किसी इलेक्ट्रॉनिक उपकरण से असल में क्या चाहिए और इसे मांगने का कारण स्पष्ट रूप से लिखित रूप में बताया जाना चाहिए. हालांकि, भारत में पुलिस या एजेंसियों द्वारा ऐसी किसी प्रणाली का पालन नहीं किया जाता है.

गुजरात: ख़ुद को सीएमओ में अधिकारी बताने वाला व्यक्ति पुलिस को चकमा देकर फ़रार

ख़ुद को गुजरात के मुख्यमंत्री कार्यालय (सीएमओ) का अधिकारी बताने वाले आरोपी विराज पटेल को बीते अप्रैल महीने में गिरफ़्तार किया गया था. वहा वडोदरा सेंट्रल जेल में बंद था और उसे मुंबई की एक महिला से कथित बलात्कार के मामले में 10 नवंबर को सत्र अदालत में पेश किया गया था, इसी दौरान वह फ़रार हो गया.

हरियाणा: यमुनानगर ज़िले की शराब त्रासदी में चार दिनों में कम से कम 18 लोगों की मौत

हरियाणा की यमुनानगर पुलिस ने बताया कि मृतकों में अधिकतर मज़दूर थे. मामले की जांच के लिए यमुनानगर पुलिस एक विशेष जांच दल (एसआईटी) का गठन भी किया है. इस संबंध में ज़िले में दो अवैध विक्रेताओं सहित कुल 10 लोगों को गिरफ़्तार किया गया है और अंबाला में चार लोगों को पकड़ा गया है.

पत्रकारों के डिजिटल उपकरण ज़ब्त करने के लिए उचित दिशानिर्देशों की ज़रूरत: सुप्रीम कोर्ट

फाउंडेशन फॉर मीडिया प्रोफेशनल द्वारा क़ानूनी एजेंसियों द्वारा 'अनुचित दखल' के ख़िलाफ़ सुरक्षा उपाय देने और डिजिटल उपकरणों की तलाशी और ज़ब्ती के लिए व्यापक दिशानिर्देश बनाने की मांग वाली याचिका सुनते हुए जस्टिस एसके कौल ने कहा कि यह गंभीर मामला है. मीडिया पेशेवरों के स्रोत और अन्य चीज़ें होंगी. कुछ दिशानिर्देश होने चाहिए.