भारत

गुजरात के खंभात में सांप्रदायिक हिंसा, 13 लोग घायल, घर और दुकानें जलाई गईं

एक महीने के भीतर दोनों समुदायों के बीच यह दूसरी झड़प है. इससे पहले 24 जनवरी को हुई इसी तरह की घटना में एक व्यक्ति की मौत हो गई थी.

Gujarat Khambhat Twitter

(फोटो साभार: ट्विटर)

नई दिल्ली: गुजरात के आणंद जिले के खंभात तालुका में रविवार को दो समुदायों के बीच झड़प के कारण 13 लोग घायल हो गए. यहां पर सांप्रदायिक रूप से भड़की भीड़ ने घरों, दुकानों और वाहनों में आग लगा दी.

इंडियन एक्सप्रेस के मुताबिक एक महीने के भीतर दोनों समुदायों के बीच यह दूसरी झड़प है. पुलिस के मुताबिक, दो समुदायों के सदस्य रविवार दोपहर को फिर से आमने-सामने आ गए. इससे पहले 24 जनवरी को हुई इसी तरह की घटना में एक व्यक्ति की मौत हो गई थी. हालांकि, सटीक कारण अभी भी जांच के दायरे में है.

खेड़ा के साथ आणंद जिले का कार्यभार संभाल रहे एसपी दिव्या मिश्रा ने कहा, ‘इस क्षेत्र में सांप्रदायिक हिंसा का इतिहास रहा है. आज हुई झड़प का सही कारण अभी भी जांच के दायरे में है. स्थिति को अब नियंत्रण में लाया गया है. हमने अब तक 46 लोगों को पकड़ा है. पथराव और आगजनी हुई थी. लगभग 15-20 घरों और दुकानों में आग लगा दी गई है लेकिन हम अभी भी हुए नुकसान का आकलन कर रहे हैं. मामले में किसी को कोई गंभीर चोट नहीं आई है. अस्पताल में भर्ती लोगों में से छह को छुट्टी भी दे दी गई है.’

हालांकि अकबरपुरा हिंसक झड़प का केंद्र था लेकिन आसपास के इलाकों से भी पथराव और आगजनी की छिटपुट घटनाएं सामने आईं. पुलिस ने कहा कि दोनों समुदायों के सदस्यों द्वारा कम से कम 25 घरों और दुकानों में आग लगा दी गई.

झड़प के बाद पुलिस ने इलाके को अनिश्चित समय के लिए बंद कर दिया और लगभग 100 पुलिसकर्मियों को वापस सामान्य स्थिति में लाने के लिए इलाके में तैनात किया गया. पुलिस ने स्थिति को नियंत्रित करने के लिए लाठीचार्ज का सहारा लिया और आंसू गैस के गोले भी दागे.