समाज

अंतरराष्ट्रीय फिल्म समारोह शुरू होने से पहले विवाद, ज्यूरी प्रमुख पद से सुजॉय घोष का इस्तीफा

सूचना व प्रसारण मंत्रालय द्वारा समारोह से मलयाली फिल्म एस. दुर्गा और मराठी फिल्म न्यूड के हटाए जाने को बताया कारण.

S Durga Nude Sujoy Ghosh

निर्देशक सुजॉय घोष और फिल्म न्यूड व एस. दुर्गा के पोस्टर. (फोटो साभार: फेसबुक)

मुंबई: फिल्मकार सुजॉय घोष ने कहा कि उन्होंने भारतीय अंतरराष्ट्रीय फिल्म महोत्सव (आईएफएफआई) के इंडियन पैनोरमा संभाग से इस्तीफा दे दिया है. अंतिम सूची में से दो फिल्मों को हटाए जाने के विवाद के बाद उन्होंने इस्तीफा दिया है.

13 सदस्यीय ज्यूरी की सिफ़ारिशों को नामंज़ूर करते हुए सूचना और प्रसारण मंत्रालय ने फिल्म महोत्सव के 48वें संस्करण से मलयालम फिल्म एस. दुर्गा और मराठी फिल्म न्यूड को हटा दिया था. यह महोत्सव 20 नवंबर से 28 नवंबर के बीच गोवा में होने वाला है.

उनसे जब पूछा गया कि क्या उन्होंने विवाद के चलते इस्तीफा दिया है तो घोष ने पीटीआई से कहा, हां, लेकिन इस समय मैं इससे ज़्यादा कुछ नहीं कह सकता हूं.

निर्णायक समिति द्वारा जमा की गई सूची में से फिल्मों को हटाने वाले मंत्रालय के इस कदम पर समिति के कई सदस्यों ने नाखुशी जताई. नाम गुप्त रखने की शर्त पर समिति के एक सदस्य ने बताया कि ऐसा पहले कभी नहीं हुआ.

एक सदस्य ने बताया कि निर्णायक समिति ने 20-21 सितंबर को ही मंत्रालय को अपनी सूची सौंप दी थी लेकिन इस सूची को हाल ही में सामने रखा गया और दोनों फिल्मों का नाम इसमें से हटा दिया गया.

मंत्रालय ने खबरों पर कोई प्रतिक्रिया नहीं दी है.  समाचार एजेंसी पीटीआई से बातचीत में दोनों फिल्मों के निर्देशकों ने बताया कि वह मंत्रालय के इस फैसले से बेहद निराश और हैरान हैं.

फिल्म एस. दुर्गा के निर्देशक सनल कुमार शशिधरन ने कहा कि वह मंत्रालय द्वारा उठाए गए इस चालाकीपूर्ण कदम के खिलाफ अदालत जाएंगे. उन्होंने कहा, उन्हें महोत्सव शुरू होने से दो-तीन हफ्ते पहले सूची प्रकाशित करनी थी लेकिन उन्होंने जान बूझकर इसमें देरी की.

फिल्म न्यूड के निर्देशक रवि जाधव भी इस फैसले से निराश हैं.

न्यूड को नारीवाद पर आधारित फिल्म जबकि एस. दुर्गा महिलाओं की सुरक्षा का संदेश देने वाली फिल्म है. मलयाली फिल्म एस. दुर्गा का असली नाम सेक्सी दुर्गा है और इसने अंतरराष्ट्रीय फिल्म महोत्सवों में कई पुरस्कार जीते हैं.

फिल्म एस. दुर्गा में यह दिखाया गया है कि एक पुरुष प्रधान समाज में जुनून और पूजा कैसे तेजी से उत्पीड़न और शक्ति के दुरुपयोग की मानसिकता पैदा करती है. फिल्म में राजश्री देशपांडे और कन्नन नायर मुख्य भूमिकाओं में हैं.

वहीं रवि जाधव की मराठी फिल्म न्यूड एक महिला की कहानी है जो आजीविका चलाने के लिए चित्रकारों के लिए नग्न मॉडल बनती है. फिल्म में कल्याणी मूले मुख्य भूमिका में हैं.

(समाचार एजेंसी भाषा से इनपुट के साथ)