भारत

उत्तर प्रदेश: सांध्य दैनिक अख़बार ‘4PM’ का यूट्यूब चैनल बंद, संपादक ने सरकार पर लगाया आरोप

उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ से प्रकाशित अख़बार ‘4PM’ के संपादक ने कहा है कि उन्होंने इस संबंध में एफ़आईआर दर्ज कराने के साथ राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद को मामले का संज्ञान लेने के लिए पत्र लिखा है. इसके अलावा अख़बार का एक नया यूट्यूब चैनल भी शुरू कर दिया है.

(फोटो साभार: फेसबुक)

नई दिल्ली: उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव के बीच राजधानी लखनऊ से प्रकाशित हिंदी के सांध्य दैनिक अखबार ‘4PM’ के यूट्यूब चैनल के बंद किए जाने की खबर है. चैनल के संपादक संजय शर्मा ने यह जानकारी दी है.

अखबार की वेबसाइट के अनुसार, 4PM अखबार के संपादक ने लखनऊ के थाना गोमती नगर विस्तार में एफआईआर दर्ज करा दी है.

इसके अनुसार, छह साल पहले शुरू हुए अखबार के यूट्यूब चैनल ‘4PM न्यूज़ नेटवर्क’ अचानक गायब हो गया. इसके संपादक संजय शर्मा ने इस संबंध में एफआईआर दर्ज कराने के साथ ही राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद को भी एक पत्र भेजकर मामले का संज्ञान लेने का अनुरोध किया है.

संजय शर्मा ने बीते शनिवार को ट्वीट कर कहा था, ‘सरकार इस हद तक उतर आएगी यह सोचा ना था! आवाज़ बंद करने के सारे हथकंडे फेल हो गए तो मेरे यूट्यूब को ही बंद करा दिया! आधी रात को मेरा यूट्यूब हैक किया गया और बंद करा दिया गया! मैं एफआईआर लिखवाने जा रहा हूं! मेरी आवाज़ बहुत चुभ रही थी यह मैं जानता था! इतना मत गिरो हजूर!’

उन्होंने इस संबंध में यूट्यूब पर भी सवाल उठाते हुए कहा था, ‘यह क्यों और कैसे हुआ प्लीज़ यूट्यूब इंडिया तुरंत बताइए! मेरा कोई विडियो नहीं खुल रहा! यह लोकतंत्र का तरीक़ा नहीं है यूट्यूब मेरा यूट्यूब 4PM न्यूज़ नेटवर्क आपके द्वारा ही वैरीफाई किया गया था! कल को हर उस आदमी का बंद कर दिया जाएगा, जो सच बोल रहा है!’

उन्होंने कहा, ‘सरकार का यह आख़िरी दांव था! पांच सालों में मेरे उत्पीड़न में कोई कसर नहीं छोड़ी गई! पहले ईओडब्ल्यू, एसटीएफ, फिर दफ़्तर पर हमले, मान्यता ख़त्म, मकान पुलिस लगाकर खाली, विज्ञापन बंद, जान से मारने की धमकी और अब मेरा यूट्यूब बंद! ज़िंदा रहूंगा तो ऐसे ही सच बोलूंगा अब ख़त्म ही करा दीजिए!’

रविवार को उन्होंने योगी सरकार पर आरोप लगाते हुए कहा, ‘4PM के यूट्यूब एकाउंट को निलंबित करने के पीछे यूपी सरकार के तीन अधिकारी हैं. उन्हें पता होना चाहिए कि प्रेस की स्वतंत्रता को खत्म करने के प्रयास हमेशा विफल होते हैं. आप सभी फूलों को काट सकते हैं, लेकिन आप बसंत को आने से नहीं रोक सकते. हम बढ़ते रहेंगे और निडर होकर रिपोर्ट करते रहेंगे.’

इसके बाद उन्होंने एक ट्वीट कर यह भी जानकारी दी कि उन्होंने अखबार का एक नया यूट्यूब चैनल फिर से शुरू कर दिया है.