Dera chief

हरियाणा: बलात्कार व हत्या के दोषी गुरमीत राम रहीम को एक महीने की पैरोल मिली

डेरा सच्चा सौदा प्रमुख गुरमीत राम रहीम 2017 में बलात्कार के मामलों में दोषी ठहराए जाने के बाद से रोहतक ज़िले की सुनरिया जेल में क़ैद है. रोहतक जेल के पुलिस अधिकारी ने बताया कि शुक्रवार से उसे एक महीने की पैरोल मिली है. इससे पहले फरवरी में भी डेरा प्रमुख को तीन सप्ताह की छुट्टी दी गई थी.

हरियाणा: फर्लो पर रिहा बलात्कार और हत्या के दोषी गुरमीत राम रहीम को ज़ेड प्लस सुरक्षा मिली

डेरा सच्चा सौदा प्रमुख गुरमीत राम रहीम को परिवार से मिलने के लिए 21 दिनों का फर्लो (एक प्रकार की छुट्टी) मिला है. अधिकारियों ने बताया कि उनकी जान को खालिस्तान समर्थक तत्वों से ख़तरा है. सिंह को 21 दिनों की छुट्टी पंजाब विधानसभा चुनाव से कुछ दिन पहले मिली थी. पंजाब में इस पंथ के ख़ास तौर पर बठिंडा, संगरूर, पटियाला और मुक्तसर में बड़ी संख्या में अनुयायी हैं. हालांकि हरियाणा सरकार ने इस बात से इनकार किया था.

हरियाणा: बलात्कार व हत्या मामले में सज़ा काट रहे गुरमीत राम रहीम को मिला 21 दिन का फर्लो

रोहतक ज़िले की सुनरिया जेल में क़ैद डेरा सच्चा सौदा प्रमुख गुरमीत राम रहीम को परिवार से मिलने के लिए फर्लो मिला है. शिरोमणि गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी ने इसे पंजाब विधानसभा चुनाव से जोड़ा है, जहां राम-रहीम के ढेरों अनुयायी हैं. वहीं मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने कहा कि फर्लो दोषी का क़ानूनी अधिकार है और इसका चुनाव से कोई लेना-देना नहीं है.

हरियाणा: डेरा प्रबंधक की हत्या के मामले में गुरमीत राम रहीम और चार अन्य को उम्रक़ैद

साल 2002 में एक अज्ञात पत्र प्रसारित करने में संदिग्ध भूमिका के चलते पूर्व डेरा प्रबंधक रंजीत सिंह की गोली मारकर हत्या कर दी गई थी. इस महीने की शुरुआत में सीबीआई की एक विशेष अदालत ने डेरा सच्चा सौदा प्रमुख गुरमीत राम रहीम सिंह को इस मामले में दोषी पाया था.

हरियाणा: डेरा सच्चा सौदा प्रमुख गुरमीत राम रहीम पूर्व प्रबंधक की हत्या के दोषी क़रार

एक अज्ञात पत्र प्रसारित करने में संदिग्ध भूमिका के चलते पूर्व डेरा प्रबंधक रंजीत सिंह की 2002 में गोली मारकर हत्या कर दी गई थी. सीबीआई की एक विशेष अदालत ने डेरा सच्चा सौदा प्रमुख गुरमीत राम रहीम सिंह को इस मामले में दोषी पाया है. सज़ा का ऐलान 12 अक्टूबर को किया जाएगा.

हरियाणा: बलात्कार और हत्या मामले में सज़ा काट रहे गुरमीत राम रहीम को मिली गुपचुप तरीके से पैरोल

बलात्कार और हत्या मामले में रोहतक जेल में बंद डेरा सच्चा सौदा प्रमुख गुरमीत राम रहीम को 24 अक्टूबर को एक दिन की पैरोल दी गई थी. इसकी जानकारी सिर्फ़ मुख्यमंत्री और कुछ वरिष्ठ अधिकारियों को ही थी, यहां तक कि सुरक्षाकर्मियों को भी नहीं पता था कि पुलिस के वाहन में वे किसे ले जा रहे हैं.

हरियाणा: पंचकूला हिंसा मामले में हनीप्रीत को जमानत मिली

साल 2017 में हरियाणा के पंचकूला में डेरा सच्चा सौदा प्रमुख गुरमीत राम रहीम को बलात्कार के मामलों में दोषी ठहराने के बाद हुई हिंसा के एक मामले में हनीप्रीत पर राजद्रोह का आरोप लगाया गया था, जिसमें 30 से अधिक लोगों की मौत हो गई थी और 200 से अधिक लोग घायल हो गए थे.

बलात्कार और हत्या के दोषी गुरमीत राम रहीम ने परोल की अर्ज़ी वापस ली

अगस्त 2017 में अपनी दो महिला अनुयायियों के साथ बलात्कार और पत्रकार रामचंद्र छत्रपति की हत्या के मामलों में दोषी ठहराए जाने के बाद से गुरमीत राम रहीम हरियाणा की सुनारिया जेल में बंद है.

पत्रकार रामचंद्र छत्रपति हत्याकांड में गुरमीत राम रहीम समेत चार को उम्रक़ैद

वर्ष 2002 में पत्रकार रामचंद्र छत्रपति की गोली मारकर हत्या कर दी गई थी. रामचंद्र ने अपने अख़बार ‘पूरा सच’ में प्रकाशित एक लेख में सिरसा स्थित डेरा सच्चा सौदा प्रमुख गुरमीत राम रहीम पर महिलाओं का यौन उत्पीड़न करने का आरोप लगाया गया था.

पत्रकार रामचंद्र छत्रपति हत्या मामले में गुरमीत राम रहीम और तीन अन्य दोषी क़रार

वर्ष 2002 में पत्रकार रामचंद्र छत्रपति की गोली मारकर हत्या कर दी गई थी. रामचंद्र ने अपने अख़बार ‘पूरा सच’ में प्रकाशित एक लेख में सिरसा स्थित डेरा सच्चा सौदा प्रमुख गुरमीत राम रहीम पर महिलाओं का यौन उत्पीड़न करने का आरोप लगाया गया था.

गुरमीत राम रहीम ने कोर्ट से कहा, ज़ुर्माना भरने के लिए नहीं है पैसा

दो साध्वियों से बलात्कार के मामले में गुरमीत राम रहीम को विशेष सीबीआई अदालत ने 20 साल की सज़ा के साथ 30 लाख रुपये ज़ुर्माना भरने का आदेश दिया था.

हनीप्रीत गिरफ़्तार, कहा- पिता राम रहीम की सज़ा के बाद अवसाद में थी

​हरियाणा पुलिस ने पंजाब में जिरकपुर-पटियाला रोड से गिरफ़्तार किया. पंचकूला हिंसा में वांछितों की सूची में हनीप्रीत का नाम सबसे ऊपर है.

डेरों की राजनीति और राजनीति का डेरा

वीडियो: गुरमीत राम रहीम के डेरा सच्चा सौदा के धार्मिक, राजनीतिक और सामाजिक पहलुओं पर द वायर के डिप्टी एडिटर अजय आशीर्वाद महाप्रशस्त का नज़रिया.