Crime against Dalits

प्रतीकात्मक फोटो, साभार: Domi/ Flickr (CC BY-NC 2.0)

राजस्थान: दलित महिला ने पुलिसवालों पर लगाया गैंगरेप का आरोप, देवर की हो चुकी है हिरासत में मौत

मामला राजस्थान के चुरु जिले का है. आरोप है कि पुलिस ने महिला और उसके देवर को चोरी एक मामले में गिरफ़्तार किया था. पुलिस अधिकारियों ने बताया कि महिला के देवर को 6 जुलाई को गिरफ्तार किया गया था और उसी रात पुलिस हिरासत में मौत हो गई थी.

Ahmedabad

गुजरात: अंतरजातीय विवाह पर लड़की के रिश्तेदारों ने पुलिस के सामने की दलित युवक की हत्या

मामला गुजरात के अहमदाबाद ज़िले का है. सोमवार रात हरीश सोलंकी अपनी दो माह की गर्भवती पत्नी को वापस लाने के लिए पुलिस टीम के साथ उसके घर गए थे. सोलंकी को देखते ही महिला के रिश्तेदारों ने पुलिस के सामने ही उन पर धारदार हथियार से हमला कर दिया.

(फोटो साभार: India Rail Info/VIC Lines)

गुजरात: दलित उप-सरपंच की पीट-पीटकर हत्या, दो हफ्ते पहले पुलिस से सुरक्षा मांगी थी

गुजरात के बोताद ज़िले का मामला. मृतक की पत्नी गांव की सरपंच हैं. मृतक के बेटे ने बताया कि गांव के उच्च जाति के कुछ लोग इस बात को पचा नहीं पा रहे थे कि दलित गांव के सरपंच बन रहे हैं.

Screenshot (10)

महाराष्ट्रः मंदिर से चोरी के शक़ में आठ साल के दलित बच्चे को बेरहमी से पीटा, आरोपी गिरफ़्तार

यह घटना वर्धा में हुई, जहां अर्वी के जगोना माता मंदिर परिसर में खेल रहे बच्चे को दानपेटी से सिक्के चुराने के आरोप में हाथ-पैर बांधकर पीटा गया और गर्म फ़र्श पर बैठने को मजबूर किया गया.

Court Hammer (2)

मध्य प्रदेशः दलित किसान की हत्या के मामले में 13 को उम्रक़ैद

किसान पर सितंबर 2017 में उनकी हत्या के पहले आरोपियों द्वारा दो बार हमला किया गया था, जिसको लेकर वे एससी/एसटी अधिनियम के तहत केस दर्ज करवाने की कोशिश कर रहे थे.

गुजरात के मुख्यमंत्री विजय रूपाणी. (फोटो साभार: ट्विटर)

अनुसूचित जातियों के ख़िलाफ़ 32 व जनजातियों के ख़िलाफ़ 55 फीसदी अपराध बढ़े: गुजरात सरकार

गुजरात विधानसभा में सरकार की ओर से पेश आंकडों के अनुसार साल 2013 से 2017 के बीच एससी व एसटी एक्ट के तहत कुल 6,185 मामले दर्ज हुए और इन सभी मामलों में दलित पीड़ित थे. इस दौरान अनुसूचित जनजातियों के ख़िलाफ़ अपराध के मामलों की संख्या 55 फ़ीसदी बढ़कर 1,310 पहुंची है.

Ahmedabad

गुजरात में दलित का आरोप, पुलिसकर्मियों ने जूते चाटने के लिए मजबूर किया

राज्यसभा सदस्य शरद यादव ने महाराष्ट्र में भीमा-कोरेगांव हिंसा को लेकर कहा, भाजपा शासन में दलितों पर हमले बढ़ रहे हैं.

फोटो: रॉयटर्स

बिहार में दलितों के ख़िलाफ़ हिंसा का लंबा इतिहास रहा है

नीतीश कुमार पद्मावती के रिलीज़ में उलझे हैं, लेकिन नाबालिग दलित लड़की के सामूहिक बलात्कार और तीन लोगों की हत्या पर सरकार ख़ामोश है.

(कई दलितों ने इस तस्वीर को अपनी वॉट्सऐप प्रोफाइल पिक्चर बनाई थी)

गुजरात: मीडिया कवरेज के लिए दलित युवक ने ख़ुद को ब्लेड से किया था घायल

मूंछ रखने को लेकर दलित युवक ने ​की थी हमले की बात. पुलिस और परिवार वालों सहित युवक ने ख़ुद माना है कि उसने मीडिया कवरेज के लिए यह हरकत की.