Crime against Women

जाति से प्रेरित हिंसा दिखाती है कि आज़ादी के 75 वर्ष बाद भी जातिवाद ख़त्म नहीं हुआ: सुप्रीम कोर्ट

शीर्ष अदालत ने उत्तर प्रदेश में साल 1991 में ऑनर ​​किलिंग से संबंधित मामले पर फ़ैसला सुनाते हुए कहा कि वह पहले भी ऐसी हत्याएं रोकने के लिए कड़े क़दम उठाने के कई निर्देश जारी कर चुकी है. कोर्ट ने यह भी कहा कि जाति-आधारित प्रथाओं द्वारा क़ायम ‘कट्टरता’ आज भी प्रचलित है और यह सभी नागरिकों के लिए संविधान के समानता के उद्देश्य को बाधित करती है.

क़ानून के परिप्रेक्ष्य में मजबूरी के सामने बेबसी को सहमति नहीं माना जा सकता: केरल हाईकोर्ट

अदालत एक 26 वर्षीय युवक की याचिका पर सुनवाई कर रही थी, जिसमें उसने बलात्कार के मामले में दोषसिद्धि को चुनौती दी थी. हाईकोर्ट ने कहा कि केवल इसलिए कि पीड़िता आरोपी से प्रेम करती थी, यह नहीं माना जा सकता कि उसने शारीरिक संबंध के लिए सहमति दी थी. 

उत्तर प्रदेश चुनाव: क्या धर्म-उन्माद व ध्रुवीकरण ही भाजपा का सहारा बनेगा

अखिलेश यादव द्वारा किया गया जिन्ना का ज़िक्र भाजपा के लिए रामबाण-सा साबित हुआ है. अपराधों, महंगाई और बेरोज़गारी से उपजा असंतोष राज्य भाजपा सरकार के गले में फंदे की तरह लटका है. ऐसी सूरत में किसी न किसी बहाने हिंदू-मुस्लिम और जातीय ध्रुवीकरण पार्टी और योगी सरकार के लिए सबसे बड़ा हथियार है.

हैदराबाद एनकाउंटरः आयोग की जांच में सामने आए पुलिस की ग़लतबयानी और झूठ

हैदराबाद में महिला डॉक्टर के बलात्कार और हत्या के सभी चारों आरोपियों की पुलिस एनकाउंटर में मौत के बाद सुप्रीम कोर्ट ने एक जांच आयोग का गठन किया था. इस आयोग ने तेलंगाना के तत्कालीन पुलिस आयुक्त सज्जनार और अन्य पुलिस अधिकारियों से इस मुठभेड़ को लेकर सवाल पूछे थे, जिसके बाद मामले के वे तथ्य धीरे-धीरे सामने आने लगे हैं, जिन्हें शुरुआत में पुलिस ने दबा दिया था.

गुजरात: कथित तौर पर भूत भगाने के दौरान बुरी तरह पिटाई से महिला की मौत, पांच गिरफ़्तार

गुजरात के द्वारका ज़िले का मामला. पांच गिरफ़्तार लोगों में तीन पुजारी और एक मृतक महिला का रिश्तेदार है. आरोपियों ने कथित तौर पर भूत भगाने के लिए महिला की जलती लकड़ी और लोहे की गर्म से चेन से बारी-बारी से पिटाई की थी.

उत्तर प्रदेश: एफ़आईआर दर्ज करने में देरी पर बलात्कार पीड़िता ने कथित तौर पर थाने में जान दी

उत्तर प्रदेश के आज़मगढ़ का मामला. पुलिस का कहना है कि महिला ने थाने में ज़हर नहीं खाया. वह थाने के बाहर बेहोशी की हालत में मिली थी. अस्पताल ले जाने पर पता चला कि उसने ज़हर खाया है. लापरवाही बरतने के आरोप में थाने के प्रभारी थानाध्यक्ष को निलंबित कर दिया गया है.

मध्य प्रदेश: जादू-टोना के शक में महिला को निर्वस्त्र कर बेरहमी से पीटा, तीन लोग गिरफ़्तार

घटना पांच अक्टूबर की रात मध्य प्रदेश के धार ज़िले के सिंघाना चौकी इलाके में हुई. पुलिस ने बताया कि आरोपी पक्ष का कहना है कि महिला की नज़र लगने से उनके घर में कुछ लोग बीमार हैं. पुलिस ने कहा कि इस तरह के अंधविश्वास के कारण महिला को पीटा गया. सभी आरोपी एक-दूसरे के रिश्तेदार हैं और महिला के निकटतम पड़ोसी हैं.

तेज़ाब हमले के पीड़ित को विकलांग अधिकार अधिनियम के तहत क्षतिपूर्ति का हक़ है: बॉम्बे हाईकोर्ट

बॉम्बे हाईकोर्ट दो बच्चों की मां की याचिका पर सुनवाई कर रही थी, जिस पर 2010 में उसके पति ने हमला किया था और उसके चेहरे पर तेज़ाब डाल दिया था. राज्य सरकार को पीड़ित महिला को 2016 के क़ानून के तहत तीन महीने के अंदर मुआवज़े का भुगतान करने और चेहरे की सर्जरी तथा अन्य चिकित्सकीय ख़र्च भी उठाने का निर्देश दिया.

राजस्थान: कनिष्ठ अधिकारी के साथ कई बार बलात्कार के आरोप में श्रम आयुक्त गिरफ़्तार

महिला अधिकारी ने अपनी शिकायत में आरोप लगाया कि संयुक्त श्रम आयुक्त ने उनके ख़िलाफ़ विभागीय कार्रवाई करने की धमकी देकर दो साल तक उनसे बलात्कार और उसका यौन शोषण किया. आरोपी को रविवार को अदालत में पेश किया गया था, जिसने उन्हें न्यायिक हिरासत में भेज दिया.

उत्तर प्रदेशः दलित बलात्कार पीड़िता की गर्भपात के दौरान मौत, डॉक्टर सहित चार गिरफ़्तार

दलित युवती से छह माह पूर्व कथित रूप से बलात्कार हुआ था, जिसके बाद वह गर्भवती हो गई थी. युवती के पिता ने बलात्कार के आरोपी युवक, उसके परिवार और एक डॉक्टर के ख़िलाफ़ बलात्कार और अन्य संबंधित धाराओं में मामला दर्ज कराया था, जिसके बाद उत्तर प्रदेश के महोबा ज़िले से यह गिरफ़्तारी हुई है.

वायुसेना बलात्कार मामला: सर्वाइवर को धमकाया गया, प्रतिबंधित टू-फिंगर टेस्ट किया गया

तमिलनाडु के कोयंबटूर में वायुसेना प्रशासनिक कॉलेज में प्रशिक्षण ले रहे एक फ्लाइट लेफ्टिनेंट पर एक सहकर्मी द्वारा बलात्कार का आरोप लगाए जाने के बाद उन्हें गिरफ़्तार कर न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया है. बताया गया है कि वायुसेना द्वारा आरोपी पर कार्रवाई करने में कथित तौर पर विफल रहने के बाद महिला ने पुलिस में शिकायत दर्ज करवाई.

आईआईटी गुवाहाटी ने हाईकोर्ट द्वारा ‘भावी संपत्ति’ बताए गए बलात्कार के आरोपी छात्र को निकाला

बीते अगस्त में सहपाठी के बलात्कार के आरोपी आईआईटी गुवाहाटी के छात्र को ज़मानत देते हुए गौहाटी हाईकोर्ट ने कहा था कि दोनों ही छात्र ‘राज्य का भविष्य’ हैं. अब संस्थान ने आरोपी को बर्ख़ास्त करते हुए कहा कि छात्र ने घोर अनुशासनहीनता की और विद्यार्थियों के लिए निश्चित आचार संहिता का उल्लंघन किया था, जिससे ‘कड़ाई से निपटा जाना’ था. 

मध्य प्रदेशः महिला कॉन्स्टेबल के साथ कथित तौर पर सामूहिक बलात्कार, दो गिरफ़्तार

मध्य प्रदेश के नीमच ज़िले का मामला. पुलिस ने बताया कि घटना इस माह की शुरुआत की है, जब महिला कॉन्स्टेबल ने 13 सितंबर को शिकायत की थी, जिसके बाद पांच लोगों के ख़िलाफ़ केस दर्ज किया गया था.

महाराष्ट्र: नाबालिग से आठ महीनों में कई बार सामूहिक बलात्कार, चौबीस गिरफ़्तार

पुलिस ने बताया कि ठाणे ज़िले में 15 वर्षीय लड़की के एक दोस्त ने बीते जनवरी महीने में उससे बलात्कार किया और घटना का वीडियो बनाकर उसे ब्लैकमेल करने लगा. बाद में लड़के के अन्य साथियों ने अलग-अलग स्थानों पर उसके साथ बलात्कार किया. पीड़िता की शिकायत पर 33 आरोपियों के ख़िलाफ़ मामला दर्ज किया गया है. दो नाबालिग भी हिरासत में हैं.

झारखंड: नाबालिग दलित किशोरी से सामूहिक बलात्कार, तीन आरोपी गिरफ़्तार

घटना हजारीबाग जिले के दारू थानाक्षेत्र  का है. पुलिस के मुताबिक शनिवार तड़के जब किशोरी अपने दो सहेलियों के साथ तालाब के पास गई थी, पड़ोसी गांव के पांच व्यक्तियों ने उसका अपहरण कर लिया और उसे एक सुनसान जगह पर ले गए, जहां उन्होंने उसके साथ बलात्कार किया और घटना का वीडियो बना लिया. पुलिस के संज्ञान में ये घटना तब आई जब परिवार के सदस्य उसे हजारीबाग मेडिकल कॉलेज एवं अस्पताल ले गए और डॉक्टरों ने पुलिस को सूचित किया.