नीतीश कुमार. (फोटो: पीटीआई)

बिहार चुनाव: क्या नीतीश को बलि का बकरा बनाने के लिए भाजपा ने उन्हें सीएम प्रत्याशी बनाया है?

नीतीश कुमार मुख्यमंत्री बनाने के बीजेपी की घोषणा के तीर का पहला लक्ष्य प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की कथित अजेय छवि को बरक़रार और हार का ठीकरा उनके सिर फोड़ना है. इसके अलावा चुनाव बाद स्पष्ट बहुमत न मिलने की दशा में नीतीश को किनारे कर एलजेपी के समर्थन और कांग्रेस तथा अन्य गठबंधनों से विधायक तोड़कर बीजेपी के नेतृत्व में अगली सरकार बनाना है.

उषा ठाकुर. (फोटो साभार: फेसबुक)

मध्य प्रदेश सरकार में मंत्री ने कहा, सारा कट्टरवाद और सारे आतंकवादी मदरसों में पले और बढ़े हैं

मध्य प्रदेश की शिवराज सिंह चौहान सरकार में पर्यटन एवं संस्कृति मंत्री उषा ठाकुर ने मदरसों में मिड-डे-मील की स्थिति के बारे में पूछे गए सवाल के जवाब में ये टिप्पणी की. उन्होंने कहा कि जम्मू कश्मीर को आतंकवादियों की फैक्टरी बनाकर रख दिया गया है.

(फाइल फोटो: रॉयटर्स)

रेलवे को 52 साल बाद संसद में कैंटीन चलाने की ज़िम्मेदारी से हटाया, आईटीडीसी को मिला ठेका: रिपोर्ट

भारतीय पर्यटन विकास निगम (आईटीडीसी) केंद्र सरकार का ही पर्यटन विंग है, जो अशोका होटल समूह का संचालन करता है. रेलवे 1968 से संसद परिसर की कैंटीन में भोजन की व्यवस्था कर रहा था.

नेपाल के प्रधानमंत्री केपी शर्मा ओली. (फोटो: रॉयटर्स)

भारत के रॉ प्रमुख के साथ नेपाल के प्रधानमंत्री की ‘गोपनीय मुलाकात’ को लेकर विवाद

नेपाल के विपक्ष और प्रधानमंत्री केपी ओली की पार्टी के नेताओं ने गुपचुप तरीके से हुई इस बैठक को राष्ट्रीय हितों के विपरीत बताया है. नेपाल के पूर्व प्रधानमंत्रियों और अन्य नेताओं ने इस मुलाकात को अनुचित और आपत्तिजनक क़रार देते हुए ओली की आलोचना की है.

FILE PHOTO: Edward Snowden speaks via video link during a news conference in New York City, U.S. September 14, 2016. REUTERS/Brendan McDermid/File Photo

अमेरिकी ​ह्विसिल ब्लोअर एडवर्ड स्नोडेन को रूस में स्थायी निवास की मंज़ूरी मिली

साल 2013 में अमेरिका की सेंट्रल इंटेलीजेंस एजेंसी द्वारा घरेलू और अंतरराष्ट्रीय स्तर पर किए जा रहे निगरानी कार्यक्रम से संबंधित दस्तावेज़ों का खुलासा करने के बाद अमेरिका से भागकर एडवर्ड स्नोडेन ने रूस में शरण ले ली थी. स्नोडेन इसी एजेंसी के लिए काम किया करते थे.

गाजियाबाद के करहैड़ा गांव में बौद्ध धर्म की दीक्षा लेते बाल्मीकि समुदाय के लोग. (फोटो साभार: ट्विटर/@Raj_Ambedkar)

ग़ाज़ियाबादः वाल्मीकि समुदाय के 236 लोगों के धर्म परिवर्तन मामले में एफ़आईआर दर्ज

उत्तर प्रदेश के हाथरस में दलित युवती के कथित बलात्कार और मौत के बाद प्रशासन के व्यवहार से आहत ग़ाज़ियाबाद के करहैड़ा गांव के दलित समुदाय के 236 लोगों ने बीते 14 अक्टूबर को हिंदू धर्म छोड़कर बौद्ध धर्म स्वीकार कर लिया था.

jnmch-1-1200x600

हाथरस मामले में मीडिया को बयान देने वाले दो एएमयू डॉक्टरों का कार्यकाल बढ़ाया गया

हाल ही में एएमयू प्रशासन ने जवाहरलाल नेहरू मेडिकल कॉलेज में अस्थायी चिकित्साधिकारी के तौर पर काम कर रहे डॉक्टर मोहम्मद अज़ीमुद्दीन मलिक और डॉक्टर उबैद इम्तियाज़ हक़ की सेवाएं समाप्त कर दी थी. इन्होंने हाथरस बलात्कार मामले में पुलिस के उलट बयान दिया था.

UP Police

उत्तर प्रदेश: बागपत में बग़ैर अनुमति दाढ़ी रखने पर दरोगा निलंबित

अधिकारियों ने बताया कि दरोगा इंतसार अली को दो बार विभागीय अनुमति लेने के निर्देश दिए गए थे, लेकिन अब तक उन्होंने ऐसा नहीं किया. नियमों की लगातार अनदेखी करने के कारण यह कार्रवाई की गई है. नियमों के अनुसार, सिखों के अलावा अन्य किसी को भी दाढ़ी रखने के लिए विभाग से अनुमति लेनी पड़ती है.

Bengaluru: A vendor carries bundles of flowers to sell during the festive season, in Bengaluru, Monday, Oct. 19, 2020. (PTI Photo/Shailendra Bhojak)(PTI19-10-2020 000209B)

कोरोना वायरस: लगातार पांचवें दिन 24 घंटे के दौरान 60 हज़ार से कम नए मामले सामने आए

भारत में कोरोना वायरस संक्रमण के कुल मामले शुक्रवार को बढ़कर 7,761,312 हो गए और मृतक संख्या 117,306 हो गई है. विश्व में संक्रमण के 4.17 करोड़ से ज़्यादा मामले सामने आए हैं और 11.37 लाख से अधिक लोगों की मौत हो चुकी है.

पूर्व केंद्रीय मंत्री अरुण शौरी. (फोटो: द वायर)

लक्ष्मी विलास होटल मामला: राजस्थान हाईकोर्ट ने अरुण शौरी व अन्य के ख़िलाफ़ कार्यवाही पर रोक लगाई

राजस्थान की एक विशेष अदालत ने उदयपुर के होटल की बिक्री मामले में पूर्व केंद्रीय मंत्री अरुण शौरी और तत्कालीन विनिवेश सचिव प्रदीप बैजल के ख़िलाफ़ केस दर्ज करने का आदेश दिया था. हाईकोर्ट ने अपने अगले आदेश तक अदालत की कार्यवाही पर रोक लगाते हुए मामले के रिकॉर्ड मांगे हैं.

Patna: Rashtriya Janata Dal (RJD) leader Tejashwi Yadav arrives to attend the ongoing Monsoon session, at Bihar Assembly in Patna on Tuesday, July 24, 2018. (PTI Photo) (PTI7_24_2018_000029B)

बिहार चुनाव: महागठबंधन के चेहरे तेजस्वी यादव क्या नीतीश कुमार के सामने टिक पाएंगे?

2015 में जब जदयू के साथ मिलकर राजद ने बिहार में सरकार बनाई थी तब तेजस्वी यादव महज़ 26 साल की उम्र में उप-मुख्यमंत्री बन गए थे. अगले क़रीब एक साल तक उप-मुख्यमंत्री रहे वही तेजस्वी आज लगभग पांच साल बाद नीतीश के सामने मुख्यमंत्री पद के सबसे बड़े दावेदार बनकर खड़े हैं.

बैजनाथपुर की बंद पड़ी पेपर मिल. (सभी फोटो: मनोज सिंह)

बिहार: बैजनाथपुर की बंद पड़ी पेपर मिल राज्य में औद्योगिकीकरण की बदहाली की मिसाल है

ग्राउंड रिपोर्ट: 70 के दशक में मधेपुरा-सहरसा राष्ट्रीय राजमार्ग पर बैजनाथपुर में काफ़ी उम्मीदों के साथ पेपर मिल बनी थी, पर कभी काम शुरू नहीं हो सका. मिल में रोज़गार पाने की आस में उम्र गुज़ार चुके लोगों की अगली पीढ़ी विभिन्न राज्यों में मज़दूरी कर रही है और मिल खुलने का वादा केवल चुनावी मौसम का मुद्दा बनकर रह गया है.

rekha sharma ncw

महिला आयोग अध्यक्ष की टिप्पणियों से खड़ा हुआ विवाद, हटाए जाने की मांग उठी

राष्ट्रीय महिला आयोग की अध्यक्ष रेखा शर्मा ने महाराष्ट्र के राज्यपाल से मुलाकात कर प्रदेश में ‘लव जिहाद’ के मामलों में कथित तौर पर बढ़ोतरी समेत महिला सुरक्षा से जुड़े कई मुद्दों पर चर्चा की थी. जिसके बाद विवाद शुरू हुआ. इस बीच सोशल मीडिया पर उनके तमाम पुराने ट्वीट साझा किए जाने लगे, जो प्रधानमंत्री, सोनिया गांधी और राहुल गांधी के ख़िलाफ़ थे.

बिहार चुनाव के लिए भाजपा का घोषणापत्र जारी करतीं वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण व अन्य भाजपा नेता. (फोटो: ट्विटर/@@BJP4Bihar)

बिहार: भाजपा का घोषणा-पत्र में मुफ़्त कोरोना टीके का वादा, विपक्ष ने कहा- बीमारी और डर बेच रहे हैं

बिहार विधानसभा चुनाव राउंडअप: कोरोना वैक्सीन को चुनावी मुद्दा बनाने पर विपक्ष ने भाजपा को घेरा. कांग्रेस ने अपने घोषणा-पत्र में किया 10 लाख नौकरियों और कृषि क़र्ज़माफ़ी का वादा किया. उप-मुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी कोरोना वायरस से संक्रमित.

Children sitting inside cement water pipes play on the Marina beach in the southern Indian city of Chennai October 10, 2013. REUTERS/Babu

दुनिया का हर छठा बच्चा घोर ग़रीबी में, महामारी से यह संख्या बढ़ने की आशंका: रिपोर्ट

विश्व बैंक और यूनिसेफ की एक रिपोर्ट में कहा गया है कि सरकारों को तुरंत बच्चों को इस संकट से उबारने की योजना बनाने की ज़रूरत है ताकि असंख्य बच्चों और उनके परिवारों को घोर ग़रीबी में जाने से रोका जा सके.